Samachar Nama
×

Kullu में पैराग्लाइडिंग ट्रेनिंग के नाम पर फर्जीवाड़ा : बिना कोर्स 25-25 हजार में बांटे गए 70 से ज्यादा सर्टिफिकेट
 

Kullu में पैराग्लाइडिंग ट्रेनिंग के नाम पर फर्जीवाड़ा : बिना कोर्स 25-25 हजार में बांटे गए 70 से ज्यादा सर्टिफिकेट

हिमाचल प्रदेश न्यूज़ डेस्क, हिमाचल के कुल्लू में पैराग्लाइडिंग ट्रेनिंग के नाम पर ठगी का मामला सामने आया है। पैराग्लाइडिंग प्रशिक्षण के फर्जी प्रमाण पत्र बांटकर यह कदाचार किया गया। फर्जी सर्टिफिकेट बांटने वाला खुद पैराग्लाइडिंग पायलट है और उत्तराखंड का रहने वाला है। इस फर्जीवाड़े में उसके साथ एक स्थानीय व्यक्ति भी शामिल था। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

यह फर्जीवाड़ा तब सामने आया जब एक व्यक्ति द्वारा 30 से 35 हजार रुपए में प्रशिक्षण प्रमाणपत्र उपलब्ध कराने की बात अधिकारियों तक पहुंची। इसके बाद माउंटेन इंस्टीट्यूट की टीम ने व्यक्ति को दबोच लिया और कुल्लू के एसडीएम विकास शुक्ला को मौके पर बुलाया। कुल्लू एसडीएम ने तत्काल कार्रवाई करते हुए उसकी गिरफ्तारी के आदेश दिए।

इस शख्स ने पुलिस के सामने बताया कि वह अब तक कुल्लू में इस तरह पैसे लेकर 70 से ज्यादा लोगों को सर्टिफिकेट बांट चुका है. एसडीएम विकास शुक्ला ने बताया कि फर्जी प्रमाण पत्र जारी करने वाले को पकड़ लिया गया है। इसको लेकर पुलिस में शिकायत भी की गई है।

पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पर्यटन विभाग को भी उक्त व्यक्ति के खिलाफ शिकायत दर्ज कर जांच करने को कहा गया है.

मनाली का अटल बिहारी वाजपेयी पर्वतारोहण संस्थान गिरफ्तार व्यक्ति द्वारा बांटे गए फर्जी प्रमाणपत्रों से संबंधित एक कोर्स संचालित करता है। एक हफ्ते से 15 दिन के इस कोर्स की फीस 50 हजार रुपए है। गिरफ्तार आरोपियों ने पैराग्लाइड पायलटों को 25-25 हजार रुपए में इस कोर्स के फर्जी सर्टिफिकेट दिए। अकेले कुल्लू जिले में ही इन लोगों ने फर्जी प्रमाण पत्र बांटकर करीब दो लाख रुपये एकत्र कर लिए.
कुल्लू न्यूज़ डेस्क!!!
 

Share this story