Samachar Nama
×

Kota छठे दिन स्कूल में पैंथर : रणथंभौर से 4 विशेषज्ञों की टीम, आज से शुरू होगी रेस्क्यू
 

Kota छठे दिन स्कूल में पैंथर : रणथंभौर से 4 विशेषज्ञों की टीम, आज से शुरू होगी रेस्क्यू

राजस्थान न्यूज डेस्क, 6 दिन से नंता महल में डेरा डाले हुए तेंदुआ को पकड़ने के लिए रणथंभौर से 4 सदस्यीय फ्लाइंग रैपिड रिस्पांस यूनिट मंगलवार शाम केटा पहुंची। बुधवार से इसका काम शुरू हो जाएगा। वन्यजीव विभाग ने महल में जाकर ट्रैप कैमरों और पिंजरों का स्थान बदल दिया है। पिंजरे में रखा शिकार भी बदल गया।

अधिकारियों को उम्मीद है कि शिकार को बदलकर तेंदुआ को पिंजरे में फुसलाया जा सकता है। वन्यजीव विभाग के बुधराम जाट ने जायजा लिया। यहां वाटर प्वाइंट के अलावा महल परिसर में घूमते भी नजर आए। कुम्हाराएं के मोहल्ला निवासी मैना ने भी एक तेंदुआ देखने का दावा किया और कहा कि देखते ही वह घर में छिप गई।

स्कूल सामुदायिक भवन में ही संचालित होते थे। यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने अधिकारियों को संसाधन बढ़ाने और बचाव अभियान में टीमें भेजने के निर्देश दिए हैं. स्थानीय अधिकारियों से तेंदुआ की आवाजाही की जानकारी ली। अधिकारियों से बात करने के बाद महल के आसपास के क्षेत्र में सामाजिक दूरी, जागरूकता और सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए गए.

बुधवार से पैंथर को पकड़ने का अभियान शुरू होगा। विभाग ने क्षेत्र के लोगों को सतर्क रहने को कहा है.
कोटा न्यूज डेस्क!!!
 

Share this story