Samachar Nama
×

Jamshedpur पटमदा की दो पंचायतों में फाइलेरिया के सर्वाधिक मरीज
 

Jamshedpur पटमदा की दो पंचायतों में फाइलेरिया के सर्वाधिक मरीज

झारखण्ड न्यूज़ डेस्क, फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम की जांच के लिए दिल्ली से आई राष्ट्रीय वैक्टर जनित रोग नियंत्रण केंद्र (एनसीवीबीडीसी) की टीम ने  पटमदा इलाके के गांव और सीएचसी का निरीक्षण किया.

टीम ने इलाके के डॉक्टर और लोगों से यह जानने का प्रयास किया कि स्वास्थ विभाग के तमाम प्रयास के बाद भी फाइलेरिया पर अंकुश क्यों नहीं लग पा रहा है. इस साल अब तक पटमदा इलाके में 327 में लोगों में हाथी पांव और 452 लोगों में हाइड्रोसिल फाइलेरिया के लक्षण मिले हैं. इसमें सर्वाधिक मरीज कुमीर और कुइयानी पंचायत के हैं. टीम सबसे पहले पटमदा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के साथ बैठक कर फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के बारे में जानकारी ली. टीम में शामिल डॉ. एसएल होती ने बताया कि प्रतिवर्ष एमडीए प्रोग्राम के तहत फाइलेरिया की दवा लोगों को खिलाई जाती है. इसके बाद भी फाइलेरिया के मामले में वृद्धि होना, जागरूकता की कमी को दर्शाता है. जिन दो पंचायतों में फाइलेरिया के रोग सर्वाधिक हैं, वहां जाकर टीम ने लोगों से बात की और उसके कारण तलाशने की बात कहीं. टीम में आरसीएमआर के डॉ. एसएल होती, एनसीवीबीडीसी के डिप्टी डायरेक्टर डॉ. विनय गर्ग, डॉ. अमरेश, डॉ. लक्ष्मण, डॉ. अमरेश डब्ल्यूएचओ, रांची के डॉ मनोज, स्टेट इंटोमोलॉजिस्ट संज्ञा सिंह, आईईसी कंसल्टेंट नीलम कुमार समेत कई अधिकारी थे.


जमशेदपुर न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story