Samachar Nama
×

Jaipur जेडीए ने पेपर लीक मास्टरमाइंड से मकान गिराने के लिए मांगे पैसे: खर्च किए 19.11 लाख रु
 

Jaipur जेडीए ने पेपर लीक मास्टरमाइंड से मकान गिराने के लिए मांगे पैसे: खर्च किए 19.11 लाख रु

राजस्थान न्यूज डेस्क, वरिष्ठ शिक्षक भर्ती पेपर लीक मामले के मास्टरमाइंड भूपेंद्र सरन को जयपुर जेडीए ने अब एक और नोटिस दिया है। जेडीए ने सारण के अलावा जिस बिल्डिंग में लर्निंग कोचिंग सेंटर चल रहा था, उसके मालिक अनिल अग्रवाल को भी नोटिस भेजा है। दोनों से भवन गिराने पर खर्च की गई राशि का भुगतान करने को कहा है। दोनों को अलग-अलग नोटिस दिया गया है। खर्च की राशि 7 दिन में जमा करने को कहा है। जेडीए ने पैसा जमा नहीं करने पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी है।

जेडीए के मुख्य प्रवर्तन नियंत्रक रघुवीर सैनी ने कहा- जेडीए एक्ट में प्रावधान है कि अगर जेडीए द्वारा कोई अवैध निर्माण हटाया जाता है तो उसे हटाने पर खर्च की गई राशि अवैध बिल्डर से वसूल की जाए. इसी के तहत यह नोटिस जारी किया गया है।

बता दें कि जेडीए ने 9 जनवरी को पेपर लीक के मास्टरमाइंड भूपेंद्र सरन, सुरेश ढाका के कोचिंग संस्थान अधिगम के खिलाफ कार्रवाई की थी. जिस बिल्डिंग में कोचिंग होती थी, उसे तोड़ा गया। यह भवन बिना जेडीए की अनुमति के आवासीय भूखंड पर बनाया गया था। इसके बाद 13 जनवरी को जेडीए ने अजमेर रोड स्थित रजनी विहार स्थित भूपेंद्र सरन के मकान को गिराने की कार्रवाई की थी.

जेडीए ने सारण का मकान गिराने में 19.11 लाख रुपए खर्च किए
जेडीए ने जारी किया नोटिस इसमें अजमेर रोड रजनी विहार स्थित मकान के अवैध हिस्से को तोड़ा गया। उसका मलबा हटाया गया। इसके तहत तीन दिवसीय कार्रवाई के दौरान श्रम, मशीनरी व उपकरण में तैनात सभी अधिकारियों व कर्मचारियों के वेतनमान को जोड़कर 19 लाख 11 हजार 355 रुपये का व्यय किया गया. जेडीए ने अब भूपेंद्र सरन और उनके भाई गोपाल सरन को यह राशि जमा कराने के लिए नोटिस जारी किया है।
जयपुर न्यूज डेस्क!!!
 

Share this story