Samachar Nama
×

Indore 83 में जन्म, 85 में बने संस्था के सदस्य, 98 में हो गई रजिस्ट्री, 91 सदस्य, जो सदस्यता के समय थे नाबालिग
 

Indore 83 में जन्म, 85 में बने संस्था के सदस्य, 98 में हो गई रजिस्ट्री, 91 सदस्य, जो सदस्यता के समय थे नाबालिग


मध्यप्रदेश न्यूज़ डेस्क,  देवी अहिल्या श्रमिक कामगार संस्था के संचालकों द्वारा तैयार सदस्यता सूची में खाता नंबर 126 पर कुमारी डॉली पिता अजय कोठारी का नाम है. 15/1 तिलक नगर पर उनका निवास बताया गया है. उनकी जन्म दिनांक 12 मई 1983 बताई गई है. दो साल की होने से पांच दिन पहले 7 मई 1985 को डॉली संस्था की सदस्य बन गईं. जब वह 14 साल 10 माह 21 दिन की थीं, उसी समय वर्ष 1998 में उनके नाम श्रीमहालक्ष्मी नगर के प्लॉट नंबर बी-130 की रजिस्ट्री भी हो गई.
विवादित देवी अहिल्या संस्था के सैकड़ों सदस्य अपने प्लॉट के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं. पूरा पैसा जमा नहीं होने, रजिस्ट्री नहीं होने, प्लॉट नहीं होने जैसे बहाने बनाकर संचालक इन्हें प्लॉट देने से इनकार कर रहे हैं. संस्था ने दो कॉलोनियों की सदस्यता सूची सहकारिता विभाग को सौंपी है, उसमें 90 से ज्यादा नाबालिग सदस्यों को न सिर्फ सदस्य बनाया था, बल्कि प्लॉट भी अलॉट कर दिए गए हैं. ऐसे कई सदस्यों को संचालक मंडल ने कब्जा पत्र सौंप दिए हैं.
कब्जा किसी को, तख्ती किसी और की

श्रीमहालक्ष्मी नगर में प्लॉट पर प्रशासन ने कब्जा तो दिलवा दिया था, लेकिन अब नई कहानी सामने आ रही है. विभाग को जो सूची सौंपी गई है, उसमें श्रीमहालक्ष्मी नगर के बी और डी में कई प्लॉट ऐसे हैं, जिनके आगे किसी और का नाम है. मौके पर प्लॉट मालिक की लगी तख्ती में किसी और का नाम है.
बगैर अनुमति बननेलगे मकान
श्रीमहालक्ष्मी नगर में प्रशासन ने सदस्यों को केवल प्लॉट का कब्जा दिया था. दोनों कॉलोनियों का नक्शा नहीं होने से यहां मकान बनाने की अनुमति नहीं दी थी. कलेक्टर ने भी पिछले दिनों यहां किसी तरह के निर्माण पर रोक लगाने के आदेश जारी किए थे, लेकिन यहां बिना अनुमति धड़ल्ले से मकान बन रहे हैं.
संस्था की सदस्यता सूची की जांच की जा रही है. तथ्यों को बारिकी से देख रहे हैं. गड़बड़ियों की पड़ताल के बाद ही वरीयता सूची जारी की जाएगी. - एमएल गजभिए, उपायुक्त, सहकारिता

इंदौर न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story