Samachar Nama
×

Indore शाम तक चली हड़ताल, मौखिक आश्वासन के बाद हुई खत्म
 

Indore शाम तक चली हड़ताल, मौखिक आश्वासन के बाद हुई खत्म


मध्यप्रदेश न्यूज़ डेस्क, प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेज में डिप्टी कलेक्टर की नियुक्ति के विरोध में  एमजीएम मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने काम नहीं किया. मेडिकल टीचर्स एसोसिएशन इंदौर (एमटीए) की अगुवाई में एमवाय अस्पताल, कैंसर अस्पताल, चाचा नेहरू बाल अस्पताल सहित अन्य संबद्ध अस्पतालों में डॉक्टर्स व कर्मचारी हड़ताल पर रहे. इस कारण मरीज इलाज के लिए परेशान होते रहे. डॉक्टरों का समर्थन नर्सिंग एसोसिएशन, कर्मचारी संगठन ने भी समर्थन दिया था.
एमटीए अध्यक्ष डॉ. अरविंद घनघोरिया ने बताया, लंबे समय से अस्पतालों, मेडिकल कॉलेज की सभी व्यवस्थाएं डॉक्टरों द्वारा ही संभाली जाती रही हैं. ऐसे में अचानक डिप्टी कलेक्टर द्वारा डीन को कंट्रोल करना बिलकुल भी ठीक नहीं है. शाम तक हमें सूचना मिली है कि सीएम व चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने इस प्रस्ताव को निरस्त किए जाने का मौखिक आश्वासन दिया है. इस पर हमने अपनी अनिश्चितकालीन हड़ताल वापस ले ली है. शाम से डॉक्टर्स काम पर लौट आए.

परेशान होकर लौटे मरीज
इधर, डॉक्टरों समेत अन्य स्टाफ के भी हड़ताल पर जाने से एमवाएच में मरीज सुबह से ही परेशान होते रहे. कई तो बिना इलाज कराए ही लौट गए. ओपीडी में इमरजेंसी सेवाओं के लिए जिला अस्पताल से डॉक्टर बुलाए गए. साथ ही मेडिकल के पीजी स्टूडेंट को भी मरीजों को देखने के लिए ड्यूटी पर लगाया गया.

इंदौर न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story