Samachar Nama
×

Hisar मुखिया-उपाध्यक्ष की गुटबाजी के बीच अलग संघ बनाएंगे नप पार्षद, कहा-सब मिलकर काम कराएंगे
 

Hisar मुखिया-उपाध्यक्ष की गुटबाजी के बीच अलग संघ बनाएंगे नप पार्षद, कहा-सब मिलकर काम कराएंगे

हरियाणा न्यूज़ डेस्क, गठन के बाद से ही गुटबाजी और विवादों के बीच चल रही शहर सरकार अब यानिकी नगर परिषद भवन में एक और नया गुट बनाने की तैयारी कर रही है. विधायक और जनता के सीधे वोटों की मदद से अध्यक्ष बने राजेंद्र खींची और विधायक के आशीर्वाद से उप राष्ट्रपति बनीं सविता टुटेजा के बीच गुटबाजी कम होने का नाम नहीं ले रही है. चूंकि विधायक का पक्ष सविता पर ज्यादा रहा है, इसलिए नप में विवाद भी बढ़ गए हैं.

इस बीच पार्षद अपना संघ बनाने की तैयारी कर रहे हैं. बैठकों का दौर जारी है, वहीं  इस पर मुहर लगने की संभावना है. इस संघ का अस्तित्व क्या रहेगा, यह तो आने वाला समय ही बताएगा. अगर यह एसोसिएशन बनती है तो यह पहली बार होगी.

पार्षदों के इस संगठन के बारे में अभी कोई भी खुलकर कुछ नहीं बोल रहा है. लेकिन कुछ पार्षदों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि इस एसोसिएशन का मकसद कोई गुट या गुट बनाना नहीं है.

इस एसोसिएशन का मकसद यह होगा कि कई पार्षदों का कहना है कि उनके बिजली निगम, जनस्वास्थ्य और पुलिस से जुड़े कई काम नहीं होते हैं. ऐसे में साथ चलेंगे तो एक दूसरे के पार्षदों का काम निकल सकेगा. हालांकि 5-7 पार्षद ऐसे संघ के पक्ष में नहीं हैं. लेकिन बहुमत इसके गठन के पक्ष में है.

प्रधानमंत्री के शामिल होने पर संशय

इधर यह भी पता चला है कि इस एसोसिएशन के प्रमुख का चुनाव भी किया जा सकता है. हालांकि एसोसिएशन बनाने की पहल करने वाले पार्षद अब कह रहे हैं कि एसोसिएशन का कोई प्रधान या उपप्रमुख नहीं होगा. केवल संगठन बनाया जाएगा.

सभी पार्षद साथ रहें. वहीं यह भी पता चला है कि इस एसोसिएशन में नप प्रमुख या उप प्रधान को शामिल नहीं किया जाना चाहिए. एक तरह से प्रधान-उपप्रधान के साथ पार्षदों के संगठन का तीसरा मुखिया बनाया जाएगा. जो पार्षदों के काम निकलवाने में भूमिका निभाएंगे.

इस तरह के विवाद

पहली बार नप कार्यालय में अध्यक्ष की कुर्सी के साथ उपाध्यक्ष की कुर्सी भी लगाई गई है. कई दिनों से कुर्सी को लेकर विवाद चल रहा था. डिप्टी हेड को डीएमसी की ओर हस्ताक्षर करने की शक्ति दी गई थी, हालांकि, हेड के विरोध के कारण शाम को आदेश को रद्द कर दिया गया था. एक जनवरी को सुख-शांति के उद्देश्य से आयोजित हवन कार्यक्रम का निमंत्रण नहीं मिलने से पार्षद नाराज दिखे.

नगर परिषद में इस बार जमकर गुटबाजी देखने को मिल रही है. प्रधानाध्यापक राजेंद्र की विधायक से दूरियां और उपप्रधान सविता की नजदीकियां बढ़ गईं. झपकी में काम ठप हो गया. शहर में प्रधान के अलावा 27 पार्षद हैं. जिन्हें गुटों में बांटा गया है.

पार्षद संघ के गठन के बारे में अभी मुझे कोई जानकारी नहीं है. बनने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है.
सविता, उपाध्यक्ष, नप.

हमे काम करना चाहिए. पार्षदों का संघ बनने पर कोई आपत्ति नहीं है. सब मिलकर काम करेंगे.'' -राजेंद्र खींची, प्रधान, नगर परिषद.
हिसार न्यूज़ डेस्क !!!

Share this story