Samachar Nama
×

Gorakhpur कॉलेज का निर्माणाधीन पोर्टिको गिरा, मजदूर की मौत, इस्लामियां कॉलेज के उत्तरी गेट पर हुआ हादसा, मलबे में दबे थे तीन मजदूर, एक खुद निकला, एक को रेस्क्यू टीम ने बचाया
 

Gorakhpur कॉलेज का निर्माणाधीन पोर्टिको गिरा, मजदूर की मौत, इस्लामियां कॉलेज के उत्तरी गेट पर हुआ हादसा, मलबे में दबे थे तीन मजदूर, एक खुद निकला, एक को रेस्क्यू टीम ने बचाया


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  बक्शीपुर स्थित इस्लामियां कॉलेज ऑफ कामर्स के उत्तरी गेट पर निर्माणाधीन पोर्टिको गुरुवार की देर शाम अचानक भरभरा कर गिर गया. छत लगाने के काम में जुटे तीन मजदूर मलबे के नीचे दब गए. एक मजदूर को हल्की चोट आई और रेस्क्यू टीम पहुंची तब तक वह निकल गया. दूसरे को करीब पौने दो घंटों के प्रयास के बाद बचा लिया जबकि एक का शव निकाला गया. घायल एक मजदूर को प्राथमिक इलाज के बाद घर भेज दिया गया जबकि दूसरा गंभीर है.
बक्शीपुर में इस्लामिया कॉलेज ऑफ कामर्स के उत्तरी गेट के पास करीब 20 फीट ऊंचे और 40 फीट चौड़े पोर्टिको का निर्माण चल रहा था.  छत की ढलाई हो रही थी. छत ढालने के लिए लिफ्ट से मजदूर मटेरियल ऊपर ले जा रहे थे. शाम करीब 6.30 बजे स्ट्रक्चर कमजोर होने की वजह से छत

अचानक भरभरा कर गिर गई. काम कर रहे दस मजदूरों में से तीन मलबे के नीचे दब गए.
इस बीच एक मजदूर किसी तरह मलबे से निकला. रामकरन नाम के इस मजदूर को हल्की चोट आई थी. उधर, सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने राहत और बचाव कार्य शुरू किया. एनडीआरएफ सहित अन्य टीमों को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर बुलाया गया. मलबे में दबा एक मजदूर बचाने को आवाज लगा रहा था. एनडीआरएफ टीम ने करीब पौने दो घंटे के प्रयास के बाद उसे बचा लिया. उसकी पहचान प्रदीप के रूप में हुई है, वह पिपराइच के सिधावल का रहने वाला है. उसका पैर फ्रैक्चर है और सीने में चोट आई है.
तीसरे मजदूर का शव करीब सवा 10 बजे निकाला जा सका. साथी मजदूरों के मुताबिक उसका नाम राजू है. 62 साल का राजू बंसतपुर सराय के पास किराये पर रहता था. मौके पर पहुंचे कमिश्नर रवि कुमार एनजी ने मामले की जांच का आदेश दिया है. जीडीए इसकी जांच करेगा. वहीं पीड़ित की तरफ से भी केस दर्ज कराने का निर्देश दिया गया है.


गोरखपुर न्यूज़ डेस्क
 

Share this story