Samachar Nama
×

Gopalganj पहली बार 350 पियक्कड़ों के घर पर चस्पाया पोस्टर, उत्पाद विभाग की टीम ने विभिन्न थाना क्षेत्रों में की कार्रवाई, दूसरे जिलों के गिरफ्तार शराबियों यहां भी चस्पाया जाएगा पोस्टर
 

Gopalganj पहली बार 350 पियक्कड़ों के घर पर चस्पाया पोस्टर, उत्पाद विभाग की टीम ने विभिन्न थाना क्षेत्रों में की कार्रवाई, दूसरे जिलों के गिरफ्तार शराबियों यहां भी चस्पाया जाएगा पोस्टर


बिहार न्यूज़ डेस्क पहली बार शराब के नशे में पकड़े गए लोगों के घर उत्पाद विभाग पोस्टर चस्पा रहा है. अब तक करीब 350 लोगों के घर पोस्टर चस्पाया गया है. विगत 1अप्रैल से लेकर 15 नवंबर तक शराब के नशे में पहली बार 2 हजार 45 लोग पकड़े गए हैं. दूसरी बार शराब पीने वाले दस लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

इनमें दो लोग न्यायिक हिरासत में हैं. बाकि लोग बेल पर बाहर है. इनके खिलाफ कोर्ट समरी ट्रायल चलाकर एक वर्ष की सजा सुनाएगी. उत्पाद अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि शराबबंदी कानूनी के तहत पहली बार शराब पीकर पकड़े गए लोग कोर्ट में दो हजार रुपए से लेकर पांच तक जुर्माना भर के तो छूट जा रहे हैं. लेकिन शराबबंदी कानून के तहत उनके घर एक पोस्टर चस्पाया जा रहा है.
पोस्टर में मद्यनिषेद, उत्पाद व निबंधन विभाग की ओर से नशा मुक्त बिहार लिखा हुआ है.
इसके साथ ही पोस्टर पर पहली बार पकड़े गए लोगों के नाम, पिता का नाम, पता और डेट लिखे गए हैं. इसके साथ ही चेतावनी दी गई है कि आप पहली बार शराब पीकर पकड़े गए हैं तो जुर्माना भरकर छूट रहे हैं और दूसरी बार पकड़े जाएंगे तो आपको एक वर्ष की सजा भी हो सकती है. भविष्य में आप सचेत रहें.
अक्टूबर माह में सबसे ज्यादा पकड़े गए शराबी
उत्पाद विभाग की टीम ने कुचायकोट थाने के बलथरी चेक पोस्ट समेत जिले के विभिन्न जगहों पर छापेमारी व जांच के दौरान शराब के नशे में लोगों को पकड़ रही है. अप्रैल माह में 12, मई में 35, जून में 133, जुलाई में 139, अगस्त में 239, सितंबर में 331, अक्टूबर में 785 व 20 नवंबर तक 531 लोग शराब के नशे में पकड़े गए हैं.
दूसरे जिलों के शराबियों पर भी होगी कार्रवाई
शराब के नशे में गोपालगंज जिले में पकड़े गए दूसरे जिले के शराबियों के घर भी पोस्टर चस्पाने की कार्रवाई की जाएगी. उत्पाद अधीक्षक ने बताया कि गोपालगंज जिले के लोगों के घरों पर पोस्टर चिपकाने की कार्रवाई तो हो ही रही है. इसके साथ ही बिहार के दूसरे जिलों के पकड़े लोग शराबियों के घर भी पोस्टर चस्पाने के लिए वहां के उत्पाद विभाग से संपर्क किया गया है और पोस्टर भी उपलब्ध कराया जा रहा है. ताकि उनके घरों पर चस्पाया जा सके. पोस्टर चिपकाने का उत्पाद विभाग का यह उद्देश्य है कि समाज में शराब पीने वाले लोग शर्मिंदा हों और वे शराब से तौबा करें.
शराब के नशे में पकड़े गए लोगों के घरों पर पोस्टर चस्पाया जा रहा है. दूसरे जिले के लोगों के घरों पर भी कार्रवाई की जा रही है. दूसरी बार पकड़े जाने पर एक वर्ष की सजा भी शराब पीने वाले लोगों को हो सकती है.
राकेश कुमार,
उत्पाद अधीक्षक, गोपालगंज.

गोपालगंज  न्यूज़ डेस्क
 

Share this story