Samachar Nama
×

Gaziabad फिरौती न मिलने पर अपहृत बच्ची की हत्या, बुलंदशहर में मिला शव
 

Gaziabad फिरौती न मिलने पर अपहृत बच्ची की हत्या, बुलंदशहर में मिला शव


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  नंदग्राम थानाक्षेत्र में मंगलवार दोपहर अगवा की गई 11 वर्षीय बच्ची की अपहरणकर्ताओं ने हत्या कर दी.
आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने बच्ची का शव बुलंदशहर से बरामद कर लिया. जानकारी के मुताबिक पड़ोस में रहने वाला युवक मेला दिखाने के बहाने से बच्ची को अगवा करके ले गया था. इसके बाद साथियों के साथ मिलकर बच्ची के परिजनों से 30 लाख की फिरौती मांगी गई. बताया जा रहा है कि फिरौती देने की बजाय पुलिस में शिकायत करने पर अपहरणकर्ताओं ने बच्ची को मौत के घाट उतार दिया.

सोनीपत हरियाणा के टोकी मनोली निवासी मोन सिंह की शादी नंदग्राम के नई बस्ती निवासी ममता के साथ हुई थी. वर्ष 2015 में मोन सिंह का देहांत होने के बाद ममता की शादी उसके देवर सोनू से कर दी गई थी. सोनू दो बेटों तथा एक बेटी का पिता था. सबसे बड़ी बेटी खुशी बचपन से ही नई बस्ती निवासी नाना बिजेंद्र और नानी शांति के पास रहती थी. वह नई बस्ती के ही एक स्कूल में कक्षा तीन में पढ़ती थी. करीब दस बजे बिजेंद्र और शांति पशुओं के लिए खेत से चारा लेने चले गए, जबकि खुशी पर थी. दोपहर साढ़े 12 बजे घर लौटे तो दरवाजा बाहर से बंद मिला. उन्होंने सोचा कि खुशी आसपास कहीं खेलने चली गई होगी. लेकिन, दोपहर 1.42 बजे सोनीपत में सोनू के पास कॉल आई, जिसके बाद खुशी के अगवा होने का पता चला. अपहरणकर्ताओं ने तीन दिन में 30 लाख का इंतजाम करने के लिए कहा था. घटना वाली शाम करीब छह बजे खुशी के पिता सोनू ने नंदग्राम थाने पहुंचकर केस दर्ज कराया था.


गाजियाबाद न्यूज़ डेस्क

Share this story