Samachar Nama
×

Gaya  पहचान बदल कर होमगार्ड की नौकरी लेने आया हत्यारोपी पुलिस के हत्थे चढ़ा, पूर्व मुखिया उमेश यादव पर तेज हथियार से जानलेवा हमला करने के मामले में दो साल से था फरार
 

Gaya  पहचान बदल कर होमगार्ड की नौकरी लेने आया हत्यारोपी पुलिस के हत्थे चढ़ा, पूर्व मुखिया उमेश यादव पर तेज हथियार से जानलेवा हमला करने के मामले में दो साल से था फरार


बिहार न्यूज़ डेस्क पहचान बदल कर होमगार्ड की नौकरी लेने गया कि गांधी मैदान में पहुंचा फतेहपुर थाना क्षेत्र के बहसापीपरा गांव का रहने वाला युवक राजीव कुमार रंजन उर्फ धर्मेंद्र यादव पुलिस से नहीं बच पाया और वह पकड़ा गया. वह बहसापीपरा पंचायत के पूर्व मुखिया उमेश यादव पर तेज हथियार से जानलेवा हमला करने का आरोपी है तथा इस मामले में वह पिछले दो साल से फरार चल रहा था. वह दौड़ और हाई जम्प टेस्ट निकाल चुका था. सिर्फ कागजी प्रक्रिया होना बाकी था. पकड़े जाने के बाद उसका बहाली का निबंधन रद्द कर दिया गया है.
गया गांधी मैदान में होम गार्ड की भर्ती प्रक्रिया पिछले 24 फरवरी से चल रहा है चलेगी.  

फतेहपुर थाना क्षेत्र के टनकुप्पा प्रखंड के अभ्यर्थियों की दौड़, हाई जंप, लॉन्ग जंप सहित शारीरिक दक्षता की परीक्षा ली जा रही थी. इस भर्ती प्रक्रिया में पूर्व मुखिया उमेश यादव के हत्या के प्रयास का आरोपी राजीव कुमार रंजन भी होम गार्ड की बहाली में अभ्यर्थी बन कर शारीरिक दक्षता टेस्ट में पहुंचा हुआ था. वह दौड़ और हाई जंप टेस्ट निकाल चुका था. कागज़ों की जांच पड़ताल चल रही थी. इसी समय गुप्त सूचना पर गांधी मैदान स्टेडियम में प्रतिनियुक्ति होम गार्ड डीएसपी और प्रोबेशनरी डीएसपी प्रवीण कुमार ने उसे हिरासत में ले लिया. पूछताछ में उसने पुलिस को बताया के धर्मेंद्र यादव और राजीव कुमार रंजन दोनों नाम उसी का है. धर्मेंद्र यादव का सर्टिफिकेट में नाम राजीव कुमार रंजन है. जबकि केस में धर्मेंद्र यादव दर्ज है.


गया न्यूज़ डेस्क 
 

Share this story