Samachar Nama
×

Gaya  सुविधा जिले को मिला दूसरा ब्लड बैंक, जेपीएन में अपर मुख्य सचिव ने ब्लड बैंक का किया उद्घाटन, 150 यूनिट ब्लड स्टोरेज की है क्षमता
 

Gaya  सुविधा जिले को मिला दूसरा ब्लड बैंक, जेपीएन में अपर मुख्य सचिव ने ब्लड बैंक का किया उद्घाटन, 150 यूनिट ब्लड स्टोरेज की है क्षमता


बिहार न्यूज़ डेस्क शहर के जयप्रकाश नारायण अस्पताल में  स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने ब्लड बैंक का उद्घाटन हुआ. इसके उद्धाटन होने से जिले में अब तीन ब्लड बैंक हो गया. शहर में पहले दो दो ब्लड बैंक संचालित हो गया. जिसमें एक सरकारी व एक निजी है. अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल में एक सरकारी ब्लड बैंक है. वहीं, एक निजी ब्लड बैंक एआईआईएमएस में चल रहा है.

150 यूनिट ब्लड स्टोरेज की क्षमता सिविल सर्जन डॉ. रंजन कुमार सिंह ने बताया कि इस ब्लड बैंक में 150 यूनिट ब्लड सुरक्षित रख सकते है. पहले दिन छह रक्त वीरों ने रक्तदान किया है. उन्होंने कहा कि ब्लड बैंक सिर्फ खुल जाना मकसद नहीं है. बल्कि लोगों के जरूरत के हिसाब से यहां ब्लड उपलब्ध रहे यह प्राथमिकता है. इसके लिए उन्होंने शहर के युवाओं से रक्तदान करने की अपील की है. जिससे कि समय पर जरूरतमंदों को आवश्यकतानुसार ब्लड मिल सके.
रक्त वीरों को किया उत्साहवर्धन इस दौरान यहां सबसे पहले रक्तदान करने पहुंचे रक्त वीरों को अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने उत्साहवर्धन किया और उनको पीठ थपथपा कर शाबसी दी. इस दौरान सिविल सर्जन ने भी रक्तदान करने वाले रक्त वीरों को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया.
लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने का है प्रयास प्रत्यय अमृत
इस मौके पर स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने कहा कि लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा देने का प्रयास किया जा रहा है. स्वास्थ्य विभाग में मौजूद सुविधाओं को बेहतर बनाने का काम किया जा रहा है. पुराने सभी अस्पतालों का नवीनीकरण हो रहा है. स्वास्थ्य के क्षेत्र में लगातार सुधार लाने का काम किया जा रहा है. इसी क्रम में ब्लड बैंक का भी शुभारंभ यहां किया गया है. जिससे कि मरीजों को अधिक से अधिक सुविधा मिल सके.
ओपीडी का किया निरीक्षण
इस दौरान अपर मुख्य सचिव ने ओपीडी का निरीक्षण किया. ओपीडी के दवा काउंटर, रजिस्ट्रेशन काउंटर से लेकर विभिन्न विभाग के चिकित्सक जहां आये हुए मरीजों का इलाज कर रहे थे. सभी जगह निरीक्षण किया. इसके साथ वह अस्पताल कैंपस में ही दीदी की रसोई का भी जायजा लिया. अस्पताल के साफ-सफाई व बदली हुयी सूरत को देख काफी संतुष्ट दिखे और कहा कि पुराने भवन में जो भी व्यवस्था की गयी है वह तारीफ के काबिल है. वही प्रभावती अस्पताल का भी जायजा लिया. इस दौरान सिविल सर्जन डा. रंजन कुमार सिंह, अस्पताल प्रबंधक संजय अंबष्ठ व अन्य चिकित्सक मौजूद रहे.


गया न्यूज़ डेस्क 
 

Share this story