Samachar Nama
×

Dharamshala में भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट की तैयारी बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी का तीसरा मैच एक मार्च से, कुर्सी की मरम्मत के अलावा पूरे स्टेडियम का लुक
 

Dharamshala में भारत-ऑस्ट्रेलिया टेस्ट की तैयारी बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी का तीसरा मैच एक मार्च से, कुर्सी की मरम्मत के अलावा पूरे स्टेडियम का लुक

हिमाचल प्रदेश न्यूज़ डेस्क, भारत और ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट टीमों के बीच बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी का तीसरा टेस्ट मैच हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला स्थित क्रिकेट स्टेडियम में एक मार्च से शुरू होगा. इस मैदान पर खेला जाने वाला यह 20वां अंतरराष्ट्रीय मैच होगा। इसके लिए हिमाचल प्रदेश क्रिकेट संघ (एचपीसीए) ने तैयारी शुरू कर दी है। स्टेडियम में कुर्सियों की मरम्मत का काम चल रहा है। स्टेडियम का सौंदर्यीकरण भी किया जा रहा है।

धर्मशाला स्टेडियम देश का पहला ऐसा स्टेडियम है जहां बारिश की स्थिति में महज 20 मिनट बाद मैच दोबारा शुरू किया जा सकता है. इसके लिए मई 2021 में पूरे स्टेडियम को खोदकर जमीन के नीचे पानी निकासी की नई व्यवस्था की गई थी। इस ड्रेनेज सिस्टम के लिए 12.50 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बिछाई गई है। इसके अलावा जमीन के नीचे पानी की टंकी भी बनाई गई है।

बारिश की स्थिति में मैच महज 20 मिनट के अंदर शुरू होने के लिए तैयार हो सकता है, जिसके लिए एचपीसीए ने यूरोपियन टेक्नोलॉजी सब-एयर के तहत स्टेडियम तैयार किया है। यूरोप की इस तकनीक को इससे पहले भारत के बेंगलुरु स्टेडियम में भी अपनाया जा चुका है।

बरमूडा घास वाला पहला स्टेडियम
धर्मशाला स्टेडियम देश का पहला क्रिकेट स्टेडियम है जहां नई किस्म की बरमूडा घास लगाई जा रही है। पस्प्लम नामक यह घास गर्मी और सर्दी के मौसम में अलग-अलग रंगों में नजर आएगी। मैच के दौरान खिलाड़ियों के लिए इस पर दौड़ना आसान होगा।

इस घास की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसे लगाने के बाद 8 साल तक इसे बदलना नहीं पड़ता है। धर्मशाला स्टेडियम में नया आउटफील्ड बना रही कंपनी बरमूडा घास की इस नई किस्म के बीज जमीन में लगा रही है. करीब 3 महीने में पूरा मैदान एक नए रूप में नजर आएगा।
धर्मशाला न्यूज़ डेस्क!!!
 

Share this story