Samachar Nama
×

Dehradun ऊर्जा निगम के एमडी को घपले में नोटिस सरकार ने एक सप्ताह के भीतर मांगा स्पष्टीकरण,दो अफसरों की टेंडर प्रक्रिया में रही अहम भूमिका
 

Dehradun ऊर्जा निगम के एमडी को घपले में नोटिस सरकार ने एक सप्ताह के भीतर मांगा स्पष्टीकरण,दो अफसरों की टेंडर प्रक्रिया में रही अहम भूमिका

उत्तराखंड न्यूज़ डेस्क, पिटकुल में 26 करोड़ के टेंडर घपले में शासन ने बड़ा कदम उठाते हुए यूपीसीएल के एमडी और निदेशक परियोजना को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. एक सप्ताह के भीतर जवाब देने की सख्त हिदायत दी है.
तीन अलग अलग कंपनियों की ओर से पूल करते हुए 26 करोड़ का टेंडर लिया गया था. इस फर्जीवाड़े पर पिटकुल मैनेजमेंट की ओर से  ही मुकदमा दर्ज कराया गया. पिटकुल प्रबंधन की इस कार्रवाई पर तत्काल हरकत में आते हुए सरकार ने सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए. सचिव ऊर्जा आर मीनाक्षी सुंदरम की ओर से  ही सचिवालय में ऑफिस खुलवा कर नोटिस जारी किए गए. एमडी अनिल यादव टेंडर प्रक्रिया के समय मुख्य अभियंता क्रय एवं अनुबंध और निदेशक प्रोजेक्ट अजय अग्रवाल उस दौरान पिटकुल में अधीक्षण अभियंता क्रय एवं अनुबंध थे. शासन ने नोटिस जारी करते हुए दो टूक पूछा है कि क्यों टेंडर प्रक्रिया में नियमों का पालन नहीं किया गया.

कंपनी की बैंक गारंटी भी कराई कैश
पिटकुल मैनेजमेंट ने टेंडर घपले में शामिल सभी कंपनियों के खिलाफ केस दर्ज करा दिया है. कंपनी की 2.6 करोड़ की बैंक गारंटी भी कैश करा ली है. एमडी पिटकुल पीसी ध्यानी ने बताया कि सीएम के संकल्प के तहत ही कार्रवाई की गई है.
कांग्रेस शासन में हुआ था विवादित टेंडर
पिटकुल में 26 करोड़ का विवादित टेंडर कांग्रेस शासन में हुआ था. इसी टेंडर में 18 करोड़ अतिरिक्त की मांग हुई. 2016 से 2022 तक इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई. अब इस घपले को न सिर्फ बाहर लाया गया, बल्कि कार्रवाई करते हुए केस दर्ज कराया गया.
टेंडर पूल मामले को गंभीरता से लिया जा रहा है. योजनाओं में इस तरह की गड़बड़ी को किसी भी सूरत में स्वीकार नहीं किया जाएगा. भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार का रुख सख्त है. एमडी, निदेशक को नोटिस जारी कर पहले जवाब मांगा गया है. कहीं भी गड़बड़ी पुष्ट हुई, तो कार्रवाई तय है. -आर मीनाक्षी सुंदरम, सचिव ऊर्जा

देहरादून न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story