Samachar Nama
×

Dehradun भर्ती परीक्षाओं में घपलों की जांच अटकी, गैंगस्टर ऐक्ट में पूर्व अफसर को कोर्ट से मिली जमानत
 

Dehradun भर्ती परीक्षाओं में घपलों की जांच अटकी, गैंगस्टर ऐक्ट में पूर्व अफसर को कोर्ट से मिली जमानत

उत्तराखंड न्यूज़ डेस्क, उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की अधर में लटकी आठ भर्ती परीक्षाओं की जांच में देरी हो रही है. आयोग के पास प्रोग्रामर नहीं होने से डेटा का अध्ययन नहीं हो पाया है. जांच रिपोर्ट में दिसंबर पहले हफ्ते तक का समय लग सकता है.
जुलाई में यूकेएसएसएससी भर्ती कांड सामने आने के बाद आयोग की आठ ऐसी परीक्षाओं पर निर्णय नहीं हो पाया है, जिनमें परीक्षा तो हो चुकी है, लेकिन चयन प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई थी. इसमें से एलटी, व्यैक्तिक सहायक, कनिष्ठ सहायक, पुलिस रैंकर्स को तो परिणाम भी जारी हो चुका है, जबकि वाहन चालक, अनुदेशक, मत्स्य निरीक्षक, मुख्य आरक्षी दूरसंचार के मामले में रिजल्ट का इंतजार किया जा रहा है. इस पर निर्णय को आयोग ने 27 अक्तूबर को रिटायर्ड आईएएस एसएस रावत की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया है. पर, कमेटी की रिपोर्ट आयोग का पुराना डेटा के बिना आगे नहीं बढ़ पा रही है. कारण आयोग के पास स्थायी प्रोग्रामर नहीं है. कमेटी के अध्यक्ष एसएस रावत के मुताबिक आयोग ने अब प्रोग्राम उपलब्ध होने की जानकारी दी है. इसके बाद ही इस दिशा में कुछ काम हो पाएगा. उन्होंने बताया कि दिसंबर प्रथम सप्ताह तक रिपोर्ट फाइनल हो सकती है.
भर्ती घपले में जेल में बंद पंतनगर विवि के पूर्व अफसर दिनेश चंद जोशी को गैंगस्टर ऐक्ट में भी जमानत मिल गई. जोशी को 50 हजार के निजी मुचलके और दो जमानती पेश करने की शर्त पर जमानत दी गई है. जुलाई में एसटीएफ ने उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा मामले में घपले की जांच शुरू की थी. अधिवक्ता चंद्रशेखर तिवारी ने बताया कि बचाव पक्ष के तर्क पर अभियोजन ने भी कोई विरोध नहीं किया. इस पर स्पेशल जज गैंगस्टर ऐक्ट चंद्रमणि राय की कोर्ट ने जोशी को जमानत दे दी.
बैंकों की भर्ती का विवाद न्याय विभाग तक पहुंचा

. जिला सहकारी बैंक भर्ती घपले में जांच रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई कुछ समय के लिए टल गई है. इससे पहले पूरे मामले में न्याय विभाग से राय ली जा रही है. सहकारिता मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने फाइल न्याय विभाग को भेज दी है. वहां से रिपोर्ट आने के बाद ही अब जांच रिपोर्ट पर कोई फैसला लिया जाएगा. न्याय विभाग की रिपोर्ट आने के बाद ही देहरादून, यूएसनगर और पिथौरागढ़ जिला सहकारी बैंक भर्ती घपले में गड़बड़ी पर कार्रवाई होगी. इन तीनों बैंकों में जांच बिठाई गई थी. इधर, मंत्री ने बताया कि न्याय की रिपोर्ट का इंतजार है.

देहरादून न्यूज़ डेस्क !!!

Share this story