Samachar Nama
×

Dehradun सीमावर्ती इलाकों की योजनाएं दून में बैठकर न बनाएं,सीएम, मुख्यमंत्री बोले, मंत्री-अफसर दूरदराज के इलाकों में प्रवास कर हल करें समस्याएं
 

Dehradun सीमावर्ती इलाकों की योजनाएं दून में बैठकर न बनाएं,सीएम, मुख्यमंत्री बोले, मंत्री-अफसर दूरदराज के इलाकों में प्रवास कर हल करें समस्याएं


उत्तराखंड न्यूज़ डेस्क,  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि मसूरी में आयोजित हो रहे चिंतन शिविर से जो अमृत निकलेगा उससे उत्तराखंड जरूर आगे बढ़ेगा. सीमावर्ती क्षेत्रों की योजनाएं दून में बैठकर ही न बनें और जवाबदेही भी तय हो. 2025 तक उत्तराखंड को देश के अग्रणी राज्यों में शामिल किया जाएगा. उन्होंने कहा कि सरकार इस दिशा में तेजी से काम कर रही है.

शिविर के लिए मसूरी पहुंचे मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि इसमें उत्तराखंड के सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर चर्चा की जाएगी. अगले पांच से दस साल का रोडमैप तैयार किया जाएगा. मंत्री-अफसर दूरदराज के इलाकों में प्रवास कर लोगों की समस्याएं हल करें.
उन्होंने कहा कि कहा विकास का मॉडल पुराने समय में लखनऊ में बनकर तैयार होता था और वहीं से योजनाएं बनती थीं. लेकिन अब केवल देहरादून में रहकर योजनाएं न बनें बल्कि सीमावर्ती क्षेत्र में बनें और इसके लिए सबकी जवाबदेही तय की जाए. मूल्याकंन इस बात पर किया जाए कि कितने रिजल्ट निकले हैं और किसने कितना परफॉर्म किया, किसने अच्छा कार्य किया और किसने आउटपुट दिया.
इससे पूर्व तीन दिनी चिंतन शिविर का शुभारंभ करने के लिए  को मुख्यमंत्री सुबह 1025 बजे पोलो ग्राउंड पहुंचे. यहां जिलाधिकारी सोनिका ने उनका स्वागत किया. मुख्यमंत्री सड़क मार्ग से 1030 बजे एलबीएस अकादमी पहुंचे. यहां अकादमी के निदेशक श्रीनिवास कटिकितला ने उनका स्वागत किया.

देहरादून न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story