Samachar Nama
×

Darbhanga डीएमसीएच के वार्डों में पसरा बायो वेस्ट, भुगतान लंबित रहने के विरोध में एजेंसी के सफाई कर्मियों ने बंद किया काम, मांगों के लिए जमकर की नारेबाजी
 

Darbhanga डीएमसीएच के वार्डों में पसरा बायो वेस्ट, भुगतान लंबित रहने के विरोध में एजेंसी के सफाई कर्मियों ने बंद किया काम, मांगों के लिए जमकर की नारेबाजी


बिहार न्यूज़ डेस्क  तीन महीने का भुगतान अविलंब करने की मांग को लेकर डीएमसीएच में आउटसोर्सिंग एजेंसी ने  साफ-सफाई का काम बंद कर दिया. काम बंद किए जाने से अस्पताल के सभी विभागों में पूरे दिन मेडिकल बायो वेस्ट और कूड़ा पसरा रहा. अस्पताल प्रशासन की ओर से तीन घंटे के अंदर काम शुरू करने का अल्टीमेटम दिया गया. बावजूद इसके एजेंसी के प्रोपराइटर पहले भुगतान करने की मांग पर अड़े रहे. विभागों में गंदगी पसरी रहने के कारण चिकित्सकों के अलावा मरीजों को काफी परेशानी हुई.
आउटसोर्सिंग कंपनी के प्रोपराइटर के अड़ियल रवैये को देखते हुए अधीक्षक डॉ. हरिशंकर मिश्रा ने विभागाध्यक्षों की आपात बैठक बुलाई. वहीं अस्पताल के नियमित सफाई कर्मियों को सफाई की कमान संभालने का निर्देश दिया.

इधर, विभागाध्यक्षों की सहमति से साफ-सफाई के लिए डेलीवेज पर 40 सफाई कर्मियों को रखने का निर्णय लिया गया. सफाई सामग्री की खरीदारी के लिए 50 हजार की राशि स्वीकृत की गई. जल्द से जल्द काम शुरू नहीं करने पर सफाई एजेंसी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की अनुशंसा की गई. सफाई का काम ठप रहने से इमरजेंसी विभाग, गायनी विभाग, मेडिसिन विभाग, सर्जरी विभाग आदि में पूरे दिन कचरा पसरा रहा. नियमित कर्मियों की मदद से विभिन्न ऑपरेशन थिएटरों की सफाई की गई.
आउटसोर्सिंग एजेंसी के प्रोपराइटर ने बताया कि कई महीनों से उन्हें भुगतान नहीं किया गया है. इस वजह से एजेंसी में काम कर रहे सफाई कर्मियों का भुगतान नहीं हो पा रहा है. कई बार आवेदन देने के बावजूद भुगतान को लेकर अस्पताल प्रबंधन दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है.
वहीं दूसरी ओर अधीक्षक डॉ. हरिशंकर मिश्रा ने बताया कि भुगतान की प्रक्रिया चल रही है. एजेंसी की ओर से ईपीएफ के लिए जो राशि ली जा रही है, उसका सही इस्तेमाल हो रहा है या नहीं, इसकी जांच की जा रही है. पूर्व में इस सिलसिले में एक अन्य कंपनी की अनियमितता सामने आई थी.

दरभंगा न्यूज़ डेस्क
 

Share this story