Samachar Nama
×

Chandigarh शहर में प्रवेश करते ही सीसीटीवी की जद में होंगे पयर्टक
 

Chandigarh शहर में प्रवेश करते ही सीसीटीवी की जद में होंगे पयर्टक


हरियाणा न्यूज़ डेस्क, सूरजकुंड मेला की सुरक्षा व्यवस्था की तैयारी शुरू कर दी गई है. अधिकारियों का दावा है कि पिछले सालों की अपेक्षा इस बार सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत किया जाएगा. दिल्ली के पुल प्रह्लादपुर, शूटिंग रेंज आदि सीमावर्ती क्षेत्रों से शहर में प्रवेश करते ही पयर्टक सीसीटीवी की जद में होगे.

सीसीटीवी कैमरे की मदद से पुलिस उनकी सुरक्षा मजबूत करेगी. साथ ही कहीं जाम की फुटेज दिखते ही पुलिस मौके पर पहुंचेगी.
3 से 19 फरवरी तक आयोजित होने वाले सूरजकुंड अंतराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले को लेकर पयर्टन विभाग के प्रधान सचिव एमडी सिन्हा ने  सभी अधिकारियों के साथ बैठक की. इस दौरान उन्होंने सुरक्षा का भी जायजा लिया. इस दौरान सीसीटीवी कैमरे को बढ़ाने पर जोर दिया गया. साथ ही सभी अधिकारियों की मेले के दौरान जिम्मेदारियां बांटी गई.
पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव एमडी सिन्हा ने कहा कि तीन फरवरी से शुरू होने वाला अंतरराष्ट्रीय सूरजकुंड मेला इस बार अन्य वर्षों की अपेक्षा ज्यादा भव्य व विशाल होगा. बड़ी संख्या में पर्यटकों के आगमन को देखते हुए इस बार सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के साथ टिकटों की बिक्री में पारदर्शिता पर पूरा ध्यान रखा जाएगा. प्रत्येक टिकट पर होलोग्राम लगाया जाएगा. इससे न तो डुप्लीकेट टिकट तैयार होगी और न ही फोटोस्टेट हो सकेगी.
मेले में पहुंचेगे विदेशी पत्रकार
प्रधान सचिव एमडी सिन्हा ने बताया कि नॉर्थईस्ट के आठ स्टेट हिस्सा ले रहे हैं. ऐसे में इन सभी राज्यों से कलाकार आएंगे. इसके साथ ही वीआईपी भी ज्यादा संख्या में रहेंगे. इनमें नॉर्थईस्ट के आठ राज्यों के मुख्यमंत्री व राज्यपाल भी आएंगे. उन्होंने बताया कि इस दौरान एक दिन विदेशी पत्रकारों का एक दल भी सूरजकुंड मेला परिसर का भ्रमण करेगा. ऐसे में मेले में पार्किंग व्यवस्था अतिरिक्त करने के निर्देश दिए हैं.
जी-20 देशों के राजदूत नौ फरवरी को पहुंचेंगे
प्रधान सचिव एमडी सिन्हा ने कहा कि जी-20 समिट के चलते इस बार मेले में विदेशी मेहमानों की संख्या दोगुनी होगी. ऐसे में एंबेसेडर मीट दो दिन होगी. जी-20 से संबंधित देशों के राजदूत 9 फरवरी को आएंगे और एससीओ से संबंधित देशों के राजदूतों के दौरे के लिए जल्द ही तिथि घोषित कर दी जाएगी. उन्होंने कहा कि सूरजकुंड मेला हमारे देश की मजबूत सांस्कृतिक विरासत का प्रतीक है. ऐसे में हमें मेले में किसी भी तरह की तैयारियों को लेकर कमी नहीं रखनी है. मेले में इस बार 45 देशों के विदेशी कलाकार हिस्सा लेंगे.
सुबह आठ बजे से मिलेगी बस
प्रधान सचिव के अनुसार मेले के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट को सुधारा जाएगा. प्रधान सचिव ने जीएम रोडवेज को निर्देश देते हुए कहा कि रोडवेज की बस रोजाना प्रात आठ बजे से फरीदाबाद, आईएसबीटी दिल्ली व गुरुग्राम से लगातार बसों के फेरे मेला परिसर के लिए लगाए जाएं. उन्होंने पार्किंग में दिक्कत आने पर अतिरिक्त क्रेन की व्यवस्था करने और अतिरिक्त पुलिस बल नियुक्त करने के निर्देश भी दिए.

चंडीगढ़ न्यूज़ डेस्क !!!

Share this story