Samachar Nama
×

Bilaspur  धोखाधड़ी: पुलिस कर रही मामले की जांच कॉग्निजेंट टेक्नोलॉजी सॉल्यूशंस में एसोसिएट की नौकरी लगाने के नाम पर ढाई लाख की ठगी
 

Bilaspur  धोखाधड़ी: पुलिस कर रही मामले की जांच कॉग्निजेंट टेक्नोलॉजी सॉल्यूशंस में एसोसिएट की नौकरी लगाने के नाम पर ढाई लाख की ठगी

छत्तीसगढ़ न्यूज़ डेस्क, कॉग्निजेंट टेक्नोलॉजी सॉल्यूशंस कम्पनी में एसोसिएट की नौकरी लगाने का झांसा देकर दो ठगों ने मारवाड़ी लाइन निवासी युवक को ढाई लाख का चूना लगा दिया. ठगी का एहसास होने पर पीड़ित ने सिटी कोतवाली थाने पहुंच कर मामले की शिकायत दर्ज कराई है. पुलिस मामले में अपराध दर्ज कर जांच कर रही है.

पुलिस के अनुसार मरवाड़ी लाइन खपरगंज निवासी वैभव पिता विनय जाजोदिया (29) बेरोजगार है. नौकरी की तलाश में वैभव ने विभिन्न वेब साइड पर अपना बायोडाटा डाल रखा है. साल भर पूर्व कॉग्निजेंट टेक्नोलॉजी सॉल्यूशंस से वाट्सएप काल पर समीर अली बेग ने संपर्क कर नौकरी लगवा देने की बात कही.समीर अली बैग ने वैभव जाजोदिया को बताया कि कम्पनी पैकेज बताया कम्पनी से मिलने वाली सैलरी के लालच में आकर 2 लाख 50 हजार अलग अलग किस्त में दे दिया. नौकरी लगने के झांसे में आकर पीड़ित ने अपने खाते के अलावा अपनी मां के एकाउंट से रुपए दे दिए. आरोपी ने वैभव को झांसे में लेने के लिए कई प्रकार के प्रलोभन दिया.
झांसे में लेने भेजा ई मेल में भेजा एग्रीमेंट व ज्वाइनिंग लेटर का फार्मेट
शातिर ठग समीर अली बैग ने वैभव जाजोदिया को झांसे में लेने के लिए टेलेंट एक्यूनेशन ग्रुप कॉग्निजेंट डॉट काम से एचआर अभिषेक देसाई का नम्बर दिया. समीर अली बैग ने वैभव को बताया कि अभिषेक कम्पनी में एचआर ह्यूम रिसोर्स के पद पर है. अभिषेक देसाई ने 23मार्च 2022 को कम्पनी की ओर से मेल में बाउंडिग फार्म व नियुक्ती पत्र का प्रपत्र भर कर जमा करने को कहा. फार्म भर कर मेल करने के बाद भी नौकरी नहीं लगी.

बिलासपुर न्यूज़ डेस्क !!!

Share this story