Samachar Nama
×

Bilaspur  22वीं राष्ट्रीय पैरा (दिव्यांग) तैराकी प्रतियोगिता दिव्यांग तैराकों ने असम में जीते 16 पदक
 

Bilaspur  22वीं राष्ट्रीय पैरा (दिव्यांग) तैराकी प्रतियोगिता दिव्यांग तैराकों ने असम में जीते 16 पदक

छत्तीसगढ़ न्यूज़ डेस्क,  प्रदेश के दिव्यांग तैराकों को 4 स्वर्ण, 5 रजत व 7 कांस्य पदक मिले. विदित हो कि 22वीं राष्ट्रीय पैरा (दिव्यांग) तैराकी प्रतियोगिता भारतीय पैरालिंपिक कमेटी भारतीय पैरा तैराकी संघ एवं असम पैरा तैराकी संघ के संयुक्त तत्वाधान में 11 से 13 नवंबर तक डॉ. जाकिर हुसैन तरण ताल गुवाहाटी (असम) में तैराकी स्पर्धा आयोजित थी.

इसमें छत्तीसगढ़ दिव्यांग तैराकी दल के 18 पुरुष तैराक, 3 महिला तैराक शामिल थे. छत्तीसगढ़ राज्य विकलांग तैराकी संघ के महासचिव सूरज यादव ने बताया कि दिव्यांग तैराकों ने इस स्पर्धा में अपना भाग्य आजमा कर राज्य का तैराकी के क्षेत्र में नाम ऊंचा रखते हुए रोहित कुमार गौड़ निवासी गौरेला-पेंड्रा ने जूनियर एस-6 में 3 स्वर्ण पदक प्राप्त कर छग राज्य को गौरान्वित किया. प्रतियोगिता में भाग लेने वाले गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले के दिव्यांग तैराकों ने सर्वाधिक 10 पदक, जिसमें 4 स्वर्ण, 3 रजत व 3 कांस्य पदक प्राप्त किए. बिलासपुर जिले के राष्ट्रीय तैराक अश्वनी पांडेय तैराकी दल के कप्तान रहे.
शानदार रहा प्रदर्शन
राज्य के तैराकों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए कुल 16 पदक जीते. जिसमें 4 स्वर्ण पदक, 5 रजत पदक व 7 कांस्य पदक शामिल हैं. महिला सीनियर वर्ग में अंजना बाई गौरेला पेंड्रा मरवाही 1 स्वर्ण, 1 कांस्य पदक, मालती राठौर गौरेला पेण्ड्रा - मरवाही 1 रजत, 01 कांस्य पदक, मोहनी मरावी गौरेला पेंड्रा मरवाही 01 रजत पदक, पुरुष वर्ग में रोहित कुमार गौड़ जूनियर वर्ग गौरेला पेण्ड्रा-मरवाही 03 स्वर्ण, जंतराम पनिका गौरेला पेण्ड्रा- मरवाही 1 रजत, 1 कांस्य पदक, भरत सिंह गोंड़ जांजगीर-चांपा 1 रजत, 2 कांस्य, किसराम पटेल बिलासपुर 1 कांस्य, राजेन्द्र यादव जांजगीर-चांपा 1 रजत, रमेश कैवर्त्य जांजगीर-चांपा 1 कांस्य पदक प्राप्त किये.

बिलासपुर न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story