Samachar Nama
×

Bhagalpur सख्ती : छात्रवृत्ति में गड़बड़ी मामले की हर पखवाड़े पीएमओ मांग रहा रिपोर्ट
 

Bhagalpur सख्ती : छात्रवृत्ति में गड़बड़ी मामले की हर पखवाड़े पीएमओ मांग रहा रिपोर्ट

बिहार न्यूज़ डेस्क अल्पसंख्यक प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति में हेराफेरी और गड़बड़ी मामले में प्रधानमंत्री कार्यालय ने न सिर्फ संज्ञान लिया है, बल्कि गड़बड़ी को लेकर दर्ज किए गए कांडों में पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई की प्रत्येक पखवाड़े रिपोर्ट भी तलब कर रहा है. अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय भारत सरकार ने पीएमओ द्वारा मांगी जा रही रिपोर्ट की जानकारी बिहार सरकार को दी है. उसके बाद मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने डीजीपी को पत्र लिख संबंधित जिलों से रिपोर्ट तलब कर मंगवाने को कहा है.
डीजीपी के निर्देश पर एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) ने जिलों को प्रत्येक 15 दिन में पुलिस की कार्रवाई की रिपोर्ट मुख्यालय भेजने को कहा है. गौरतलब है कि बिहार के चार जिलों भागलपुर, सहरसा, मुजफ्फरपुर और गया में अल्पसंख्यक प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति में हेराफेरी और गड़बड़ी के मामले सामने आए थे. इसे लेकर संबंधित जिलों में केस भी दर्ज किया गया है. एडीजी ने इन चारों जिलों के एसएसपी और एसपी को रिपोर्ट भेजने से संबंधित निर्देश दिया है.
भागलपुर में अल्पसंख्यक प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति में हेराफेरी और गड़बड़ी को लेकर जोगसर थाना में 21 दिसंबर 2020 को केस दर्ज किया गया था. वरीय उप समाहर्ता सह प्रभारी सहायक निदेशक अल्पसंख्यक कल्याण के बयान पर केस दर्ज किया गया था. उन्होंने थाने में दिए आवेदन में लिखा था कि छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत ऑनलाइन माध्यम से गलत पता दर्शाते हुए दो छात्रों आफताबउद्दीन और अकबर अली एवं अन्य बिचौलियों द्वारा छात्रवृत्ति की राशि प्राप्त की गई. दोनों ही आरोपी छात्र असम राज्य के नजीरा शिवसागर स्थित ओएनजीसी केंद्रीय विद्यालय के छात्र थे.
सहरसा में फर्जी नाम पर छात्रवृत्ति की राशि ले ली थी

सहरसा में भी अल्पसंख्यक प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति में हेराफेरी और गड़बड़ी को लेकर केस दर्ज किया गया था. सहरसा जिले के सदर थाना में जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी के बयान पर 28 दिसंबर 2020 को केस दर्ज किया गया था. उन्होंने थाने में दिए आवेदन में लिखा था कि जिले के कहरा के रहने वाले छात्र अतुल सिंघा ने गलत तरीके से छात्रवृत्ति की राशि प्राप्त की है. जांच के लिए टीम का गठन किया गया. जांच में पाया गया कि उस नाम का कोई छात्र दिए गए पते पर नहीं मिला. जांच यह पता चला कि किसी ने अतुल सिंघा के फर्जी नाम से छात्रवृत्ति की सरकारी राशि का गबन किया है.
गया और मुजफ्फरपुर में भी दर्ज हुआ था केस
अल्पसंख्यक प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति में हेराफेरी और गड़बड़ी को लेकर गया और मुजफ्फरपुर जिले में भी केस दर्ज किया गया था. मुजफ्फरपुर में जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी रविशंकर के बयान पर नगर थाना में पांच अप्रैल 2021 को केस दर्ज किया गया था. वहां पर तीन छात्रों द्वारा फर्जीवाड़ा कर छात्रवृत्ति की राशि निकासी किए जाने का केस दर्ज कराया गया था. गया जिले में नौ नवंबर 2020 को जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी के बयान पर सिविल लाइन थाना में केस दर्ज कराया गया था.

भागलपुर न्यूज़ डेस्क
 

Share this story