Samachar Nama
×

Bhagalpur चार अस्पतालों में ही जनऔषधि केंद्र
 

Bhagalpur चार अस्पतालों में ही जनऔषधि केंद्र


बिहार न्यूज़ डेस्क  जिले के मरीज रोजाना लाखों रुपये की दवाएं निजी दुकानों पर महंगी दर पर खरीद रहे हैं. वहीं सरकारी अस्पतालों में प्रस्तावित सस्ती दवाओं की दुकान (प्रधानमंत्री जनौषधि केंद्र) खोलने में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के पसीने छूट जा रहे हैं.

आलम यह है कि छह माह पहले आदेश पारित हुआ और जगह की कमी के कारण जिले के 18 में से महज चार सरकारी अस्पतालों में ही प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र ही खुल सके. पड़ताल में पता चला कि जिले के ज्यादातर अस्पतालों में जगह ही नहीं है जहां पर जनऔषधि केंद्र खोला जा सके. ऐसे में अस्पतालों में जगह की कमी ने मरीजों के सस्ती दवा खरीदने के सपने पर ब्रेक लगा रखा है. जिले में एक मेडिकल अस्पताल (मायागंज अस्पताल) समेत कुल 18 सरकारी अस्पताल चल रहे हैं. इन अस्पतालों के केवल ओपीडी में ही हर रोज औसतन सात से साढ़े सात हजार मरीजों का इलाज होता है. ये मरीज हर रोज औसतन दवाओं की खरीद पर 14 लाख रुपये खर्च करते हैं. जनऔषधि केंद्र मायागंज अस्पताल, सदर अस्पताल, अनुमंडलीय अस्पताल कहलगांव व रेफरल अस्पताल सुल्तानगंज में खुले हैं.

भागलपुर न्यूज़ डेस्क
 

Share this story