Samachar Nama
×

Basti  तीन साल से कोच के लिए तरस रहे खिलाड़ी, स्टेडियम में प्रति खिलाड़ी सालाना 100 रुपये देना पड़ता था शुल्क
 

Basti  तीन साल से कोच के लिए तरस रहे खिलाड़ी, स्टेडियम में प्रति खिलाड़ी सालाना 100 रुपये देना पड़ता था शुल्क


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  शहीद सत्यवान सिंह स्टेडियम पिछले तीन साल से क्रिकेट कोच के लिए तरस रहा है. क्रिकेट की बारीकियां सीखने के लिए युवा खिलाड़ी निजी प्रशिक्षण केंद्र का सहारा ले रहे हैं, जो काफी खर्चीला होने के चलते सभी के बजट में नहीं आ पा रहा है. बावजूद प्रशिक्षक के लिए विभाग द्वारा कोई पहल नहीं की जा रही है.

स्टेडियम में तीन साल से अधिक का समय बीत गया है और क्रिकेट खेल का प्रशिक्षक नहीं है. स्टेडियम में क्रिकेट का जब प्रशिक्षण चल रहा था तो प्रति खिलाड़ी सालाना शुल्क 100 रुपये देना पड़ता था. इतने कम पैसे में पूरे साल क्रिकेट की बारीकियां सीखते थे. युवा क्रिकेटर कहते हैं कि यदि प्रशिक्षक की तैनाती हो जाए तो 100 से अधिक खिलाड़ी प्रशिक्षण शुरू कर सकेंगे.
बताते हैं कि तीन साल पहले क्रिकेट कोच के रूप में जितेंद्र पटेल सेवा दे रहे थे, उनका कार्यकाल नहीं बढ़ा और इसके बाद खिलाड़ी कोच विहीन हो गए. अभी ये खिलाड़ी जैसे-तैसे बिना कोच के क्रिकेट सीख रहे हैं.
क्रिकेट प्रशिक्षक की नियुक्ति अंशकालिक तौर पर हुई थी. पुन तैनाती निदेशालय स्तर से होनी है. नियुक्ति के लिए लगातार पत्राचार किया जा रहा है. कोच मिलते ही शिविर शुरू होगा.
- संजय शर्मा, आरएसओ बस्ती


बस्ती  न्यूज़ डेस्क
 

Share this story