Samachar Nama
×

Basti  के इंजीनियर सुजीत को मिला नेशनल बेस्ट फिश फार्मर अवार्ड, वाल्टरगंज के मूल निवासी है सुजीत कुमार चौधरी
 

Basti  के इंजीनियर सुजीत को मिला नेशनल बेस्ट फिश फार्मर अवार्ड, वाल्टरगंज के मूल निवासी है सुजीत कुमार चौधरी


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क   केंद्र शासित दमन में विश्व मात्स्यिकी दिवस के मौके पर बस्ती के युवा इंजीनियर सुजीत कुमार चौधरी को नेशनल बेस्ट फिश फार्मर (इनलैंड) अवार्ड मिला. भारत के सबसे अच्छे मत्स्य पालक किसान का अवार्ड पाकर सुजीत ने जिले का नाम रोशन किया है. साफ्टवेयर इंजीनियर सुजीत का वर्तमान में कार्यक्षेत्र रायबरेली, प्रतापगढ़, अमेठी व बाराबंकी है, जहां के 100 एकड़ से अधिक क्षेत्रफल के तालाब में मछली पालन कर रहे हैं और तकनीकि का प्रयोग कर सामान्य से छह गुना मछली का उत्पादन कर रहे हैं.
सुजीत कुमार चौधरी शहर से सटे वाल्टरगंज के निवासी हैं. पिता विनोद कुमार चौधरी किसान व मां यशोदा देवी गृहणी हैं. इंटरमीडिएट तक की शिक्षा शहर के सेंट बेसिल्स हुई तो लखनऊ से 2005 में बीटेक किया. कैंपस सलेक्शन के बाद दो साल तक इंफोसिस में साफ्टवेयर इंजीनियर रहे तो अमेरिकन साफ्टवेयर कंपनी में बतौर डायरेक्टर तैनात रहे. 2016 में त्यागपत्र देकर नोएडा में इेरिमेडियम नामक कंपनी स्थापित कर हेल्थ सेक्टर के लिए आधुनिक यंत्र व साफ्टवेयर बनाने लगे. कोविड कॉल में 2020 के बाद माता-पिता कोरोना की चपेट में आए तो उन्होंने अपना ठिकाना लखनऊ बनाते हुए मछली पालन के व्यवसाय में कदम रखा.

सुजीत चौधरी ने चार तालाब से मछली पालन शुरू किया. इस समय रायबरेली, अमेठी, प्रतापगढ़ और हैदरगढ़ (बाराबंकी) में 100 एकड़ से अधिक क्षेत्रफल में मछली पालन कर रहे हैं. टेक्नोलॉजी और साइंस का उपयोग करते हुए एक एकड़ में सामान्य से छह गुना तक अधिक उत्पदान कर रहे हैं. 2022 में लगभग 700 टन पंगेसियस मछली की सफलतापूर्वक खेती की और 70 लाख बच्चों की नर्सरी तैयार किया. जल की गुणवत्ता को नियंत्रित करने के टेक्नालॉजी का उपयोग करते हैं. इस समय उन्होंने ब्लैक सोल्जर फ्लाई का भी उत्पादन शुरू कर दिया है, जो मछलियों के बच्चों की खुराक के रूप में इस्तेमाल होता है.
केंद्रीय सचिव के हाथों मिला पुरस्कार दमन में पुरस्कार जतिन्द्र नाथ सचिव मतस्य भारत सरकार, सागर मेहरा संयुक्त सचिव, डॉ. सुवर्णा सीईओ राष्ट्रीय मतस्य विकास बोर्ड, सौरभ मिश्रा सचिव मतस्य दमन व दीव के मिला. पुरस्कार के तौर पर एक लाख का चेक व प्रमाण पत्र प्रदान किया गया.
पूर्वांचल में झींगा की खेती की है योजना
सुजीत कुमार चौधरी ने पूर्वांचल में झींगा की खेती की योजना बनाया है. इसका शुभारंभ इस वर्ष हो गया है. 2023 में इसे 10 एकड़ तक ले जाने की योजना है. बताते चलें कि भारत से लगभग 60 हजार करोड़ का झींगा निर्यात हुआ था जिसमें उत्तर प्रदेश का योगदान शून्य रहा. सुजीत झींगा उत्पादन व निर्यात में उत्तर प्रदेश की भागीदारी बढ़ाने के लिए योजना बना रहे हैं.


बस्ती  न्यूज़ डेस्क
 

Share this story