Samachar Nama
×

Bareli  आयकर व आरओसी देंगे मुखौटा कंपनियों का डाटा, मुखौटा कंपनी के अधिकृत व्यक्तियों का पुलिस ने मांगा है ब्योरा
 

Bareli  आयकर व आरओसी देंगे मुखौटा कंपनियों का डाटा, मुखौटा कंपनी के अधिकृत व्यक्तियों का पुलिस ने मांगा है ब्योरा


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  बिहारमान नगला में बीडीए की जमीन खुर्द-बुर्द करने के मामले में सामने आई सात कंपनियों की पुलिस ने कुंडली खंगालनी शुरू कर दी है. आयकर विभाग और रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (आरओसी) को पत्र लिखकर पुलिस ने इनके टर्नओवर और अधिकृत व्यक्तियों के बारे में जानकारी मांगी है.

पुलिस की जांच में एलायंस बिल्डर्स की सात कंपनियां सामने आईं हैं. इनके नाम एसके एसोसिएट्स, आशीष इंटरप्राइजेज, एसके प्रापर्टीज, एसए एसोसिएट्स, एसए प्रापर्टीज, लैंड मार्क प्रापर्टीज और लैंड मार्क एसोसिएट हैं. इनके बारे में पुलिस को बहुत जानकारी नहीं मिल सकी है. अभी यह भी स्पष्ट नहीं है कि यह कंपनी एक्ट के मुताबिक पंजीकृत हैं या नहीं. चूंकि इन कंपनियों के जरिये पुलिस को बड़े कारोबार की जानकारी मिली है इसलिए अब इनका ब्योरा जुटाया जा रहा है.
आयकर विभाग और आरओसी से जानकारी मिलने के बाद भूमाफिया बिल्डर्स पर पुलिस का शिकंजा और कसेगा. वहीं, हिरासत में लिए गए मैनेजर अनुराग गोयल को पूछताछ के बाद पुलिस ने छोड़ दिया है. उसने पुलिस को आरोपियों के कामकाज के तरीके के बारे में अहम जानकारियां दी हैं. उसी आधार पर पुलिस की जांच आगे बढ़ रही है.
एलायंस के कारोबार की नहीं मिल रही जानकारी
पुलिस एलायंस बिल्डर्स के नाम पर हो रहे कारोबार की जानकारी भी जुटा रही है, लेकिन अब तक कुछ खास जानकारी नहीं मिल सकी है. कहा जा रहा है कि शुरुआती दौर में इस कंपनी के नाम पर कारोबार किया गया, लेकिन बाद में सारा काम मुखौटा कंपनियों के नाम पर ही हुआ. इसके चलते पुलिस भूमाफिया से जुड़ी कंपनियों में कॉमन अधिकारियों के नाम तलाश कर उनका कनेक्शन जोड़ रही है.
खरीद-फरोख्त वाले और लोग आएंगे लपेटे में
सन सिटी में युवराज सिंह के घर से बरामद हुई 41 बोरा रजिस्ट्री समेत अन्य दस्तावेजों को पुलिस अलग कर चुकी है. इनमें सैकड़ों रजिस्ट्रियां भी पुलिस के हाथ लगी हैं, जिनमें कुछ बिहारमान नगला की जमीन से जुड़ी हैं. अब पुलिस उनकी जांच कर रही है. कहा जा रहा है कि इनकी जांच के बाद जमीन की खरीद-फरोख्त करने वाले कुछ अन्य लोग भी इसके लपेटे में आएंगे.
करोड़ों की सरकारी जमीन खुर्द-बुर्द करने का मामला
बिहारमान नगला में राजस्व विभाग के कर्मचारियों की मिलीभगत से करोड़ों की सरकारी जमीन तीन लाख में खरीदकर मुखौटा कंपनियों के जरिये उसे खुर्द-बुर्द कर दिया. इसको लेकर 13 नवंबर को दलबिंदर सिंह, सलीम अहमद और जुल्फिकार अहमद समेत 17 के खिलाफ थाना इज्जतनगर में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी. इनमें से तीन को गिरफ्तार कर जेल भी भेजा जा चुका है.
आयकर विभाग और आरओसी को पत्र लिखकर सामने आई मुखौटा कंपनियों के बारे में जानकारी मांगी गई है. एलायंस बिल्डर्स के मैनेजर को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया है.
-राहुल भाटी, एसपी सिटी

बरेली न्यूज़ डेस्क

Share this story