Samachar Nama
×

Aligarh  कई अपराध जो कागजों से बाहर मुनीर ने स्वीकारे
 

Aligarh  कई अपराध जो कागजों से बाहर मुनीर ने स्वीकारे


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क   मुनीर के खिलाफ अलीगढ़ में नौ मुकदमे लूट, हत्याओं के दर्ज हैं. मगर, कुछ ऐसे अपराध, जो मुनीर ने किए. मगर, वह पुलिसिया कागजों में नामजद नहीं हुआ. उसकी जगह अन्य लोगों को जेल जाना पड़ा. जब मुनीर ने एसटीएफ के समक्ष इन अपराधों को स्वीकार किया था तो पुलिस के भी होश उड़ गए थे. मुनीर की इनमें नामजदगी पर पुलिस ने मंथन बेशक शुरू कर दिया था. मगर, वह मंथन अंजाम तक नहीं पहुंच सका.

मुनीर द्वारा स्वीकारे अपराधों में जामिया उर्दू के पीछे एएमयू कर्मी शनी की उसकी पत्नी के सामने हत्या और रामघाट रोड पर एक युवक की हत्या के अलावा दो बाइक लूट जैसे अपराध शामिल हैं. 2016 में गिरफ्तारी के बाद मुनीर ने बताया था कि 14/15 मई 2013 की रात एएमयू कैंटीन के सुपरवाइजर शनी को उस टीचर्स कालोनी में गोली मारी गई, जब वह अपनी पत्नी सना संग बाजार से लौट रहा था. इस हत्या में यासिर-फहाद जेल गए थे. इसके अलावा 2013-14 में कदीर पर पुरानी चुंगी पर फायरिंग के दो-तीन दिन बाद रामघाट रोड पर एक युवक को गोली मारी गई थी. इस हत्या में भी कोई अन्य जेल गया था. उसे मरने वाले का नाम तक नहीं पता. इसके अलावा 18 जून 2014 को लालडिग्गी पर बन्नादेवी धोबी वाली गली के अख्तर पल्सर, मोबाइल, नगदी लूटी, महेशपुर फाटक पर एक युवक से पल्सर लूटी.


अलीगढ़ न्यूज़ डेस्क
 

Share this story