Samachar Nama
×

Ajmer 12.5 लाख रुपए की ठगी : पुलिस कांस्टेबल ने एक अन्य कांस्टेबल व उसके साले पर लगाया आरोप, केस दर्ज
 

Ajmer 12.5 लाख रुपए की ठगी : पुलिस कांस्टेबल ने एक अन्य कांस्टेबल व उसके साले पर लगाया आरोप, केस दर्ज

राजस्थान न्यूज डेस्क, अजमेर के क्रिश्चियनगंज थाना क्षेत्र में फर्जी तरीके से 12.5 लाख रुपये हड़पने का मामला सामने आया है. पीड़ित पुलिस कांस्टेबल है और उसने अपने साथी कांस्टेबल और अपने साले पर आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है. पुलिस मामले की जांच में जुटी है.

न्यू भारत नगर कॉलोनी लोहागल लिंक रोड पंचशील नगर अजमेर निवासी जितेंद्र कुमार पुत्र डालचंद जाटव (28) ने बताया कि वह पुलिस लाइन अजमेर में कार्यरत है। चित्तौड़गढ़ से कांस्टेबल नेनाराम गोदारा मार्च/अप्रैल माह में कट्टर आरोपितों की ड्यूटी पर अजमेर आया था। इस दौरान उससे मुलाकात हुई। हम साथ रहने लगे। उस पर खूब विश्वास किया। नेनाराम गोदारा के साथ रहते हुए उसने अपनी निजी जरूरतों के लिए 5 लाख रुपए मांगे। ऐसे में उन्होंने इस बात से इनकार किया कि उनके पास इतने पैसे नहीं हैं. बार-बार कहने लगा और किसी से लेने को कहने लगा। मैं इसे कुछ दिनों में वापस कर दूंगा।

विश्वास में आकर 23 अप्रैल 2022 को फोन पे के जरिए 50 हजार रुपए दिए। इसके बाद 3 मई 2022 को 50 हजार रुपए गूगल पे के जरिए ट्रांसफर किए गए। 4 मई को गूगल पे के जरिए 40,000 रुपये और 5,000 रुपये दिए गए। 6 मई को चेक से उनके खाते में 4 लाख रुपए दिए गए। करीब एक माह बीत जाने के बाद भी पैसा नहीं दिया गया। इसके बाद कहा कि मैं कुछ ट्रेडिंग का काम कर रहा हूं और पैसा आने में अभी समय लगेगा। और पैसे दो, मैं मिलकर दूंगा। बातों में आकर 7 जून को 90 हजार दे दिए। एक-दो दिन के बाद उसने बैंक से 5 लाख नकद चुकाए। इसके अलावा 1430 यूएसडीटी (डॉलर) लिया गया जिसकी भारतीय मुद्रा 1 लाख 21 हजार 550 रुपए थी। नेनाराम गोदारा ने कुल 12 लाख 56 हजार 550 रुपए हड़प लिए। नेनाराम ने अपने साले फुसाराम से भी बात करवाई। जिन्होंने कहा कि पैसा आ रहा है, मैं एक बार में आप सबको दे दूंगा। अब पैसा वापस नहीं आ रहा है। इस संबंध में ऑडियो/वीडियो रिकॉर्डिंग और ऑनलाइन ट्रांजैक्शन का ब्योरा होता है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच एएसआई अमरचंद को सौंप दी है।
अजमेर न्यूज डेस्क!!!
 

Share this story