Samachar Nama
×

Agra  संशय-संदेह को बहा ले गया युवाओं का सैलाब, पिछले सालों की तुलना में कई जनपदों से रिकॉर्ड अभ्यर्थी, चार साल की नौकरी से नहीं परहेज, बस कैसे भी मिले सेना की वर्दी
 

Agra  संशय-संदेह को बहा ले गया युवाओं का सैलाब, पिछले सालों की तुलना में कई जनपदों से रिकॉर्ड अभ्यर्थी, चार साल की नौकरी से नहीं परहेज, बस कैसे भी मिले सेना की वर्दी


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  वीर तुम बढ़े चलो, धीर तुम बढ़े चलो, ध्वज कभी झुके नहीं, दल कभी रुके नहीं.
आगरा के प्रखर कवि द्वारिका प्रसाद माहेश्वरी के ‘प्रयाण’ गीत की यह पंक्तियां उन युवाओं पर प्रभावी हैं जो ‘अग्निवीर’ बनकर देश-सेवा का भाव रखते हैं. केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना अभी सौ दिन की भी नहीं हुई, मगर भर्ती रैलियों में उमड़ता युवाओं का सैलाब उजली तस्वीर सामने लाया है. यूपी के 76 जिलों से लगभग आठ लाख युवाओं ने ‘अग्निवीर’ के लिए आवेदन किए हैं, जो पिछली भर्तियों की तुलना में 30 फीसदी से ज्यादा हैं.

आगरा-मथुरा राजमार्ग पर कीठम स्थित आनंद इंजीनियरिंग कॉलेज के अंदर और बाहर का नजारा उत्साह-उल्लास की नई इबारत बयां कर रहा है. सेना भर्ती कार्यालय आगरा की देखरेख में 20 सितंबर से अगले दस अक्तूबर तक 12 जनपदों के पौने दो लाख से अधिक युवा देश-सेवा के लिए भाग्य आजमाएंगे. कमोवेश यही स्थिति मुजफ्फरनगर के स्पोर्ट्स स्टेडियम की है. यहां भी मेरठ भर्ती कार्यालय 13 जनपदों के लगभग 1.65 लाख युवाओं की शारीरिक-मानसिक परीक्षा लेगा. आगरा में लगभग 29 फीसदी और मेरठ में 32 फीसदी अधिक आवेदन हैं. केंद्र सरकार ने इसी साल 16 जून को जब अग्निपथ योजना लांच की थी, तब देश-प्रदेश के कई हिस्सों में युवाओं का गुस्सा खुलकर सामने आया था. देश और प्रदेश भर में आगजनी-पथराव और बवाल के बीच युवाओं के एक वर्ग ने योजना को खारिज कर दिया था.  ‘हिन्दुस्तान टीम’ ने दोनों स्थानों पर सैकड़ों युवाओं का मन टटोला. मुजफ्फरनगर का विनीत भाटी हो या कासगंज का कमलकांत उन्हें कहने में संकोच नहीं-‘चार साल की मिले या चार महीने की, बस कैसे भी नौकरी चाहिए. चार साल की नौकरी से मिली दिशा से भविष्य की राह आसान हो जाएगी.’ यही कारण रहा कि मंगलवार रात 12 बजे ही भर्ती कार्यालयों पर युवाओं की लंबी कतारें थीं. आवास-भोजन की परवाह किए बिना रतजगा जारी रहा. हालांकि अंतिम भर्ती मौके वाले युवाओं में गुस्सा है.
बकौल आलोक सिंह- ‘आर्मी के लिए सालों पसीना बहाया पर एक मिनट की चूक से सब बर्बाद हो गया.’


आगरा न्यूज़ डेस्क
 

Share this story