Samachar Nama
×

क्या है कुंडली का गजकेसरी योग और क्या हैं इसके फायदें

what is gajkesari yog in kundali this yog gives success

ज्योतिष न्यूज़ डेस्क: ज्योतिषशास्त्र में जन्मकुंडली को बेहद महत्वपूर्ण बताया गया है वही जन्मकुंडली में शुभ योग का होना भाग्योदय का प्रतीक माना जाता है कुंडली में वैसे तो कई सारे योग बनते हैं जिसे शुभ योग कह सकते हैं यह योग मानव के आगे के सफर को पहचानने में मदद करते हैं कुंडली में बनने वाले सभी योगों में से एक विशेष योग है

what is gajkesari yog in kundali this yog gives success

जो जातक की आर्थिक स्थिति को मजबूत करने का काम करता है और साथ ही शक्ति व बुद्धि में भी विकास करता है यह योग मानव जीवन में उच्च पद नेता या अभिनेता बनने का योग भी बनाता है ज्योतिषशास्त्र में इस योग के होने से मनुष्य अपने जीवन में सफल और प्रसिद्ध बनता है इस योग का नाम है गजकेसरी योग, तो आज हम आपको अपने इस लेख द्वारा इसी विशेष और शुभ योग के बारे में बता रहे हैं तो आइए जानते हैं। 

what is gajkesari yog in kundali this yog gives success

आपको बता दें कि सभी प्रमुख धन योगों में से एक गजकेसरी योग माना जाता है गुरु और चंद्र योग से इस योग का निर्माण होता है इसे ज्योतिष में भी शुभ बताया गया है अगर किसी जातक की जन्मकुंडली में किसी भी भाव में गुरु और चंद्रमा का योग बन रहा होता है और किसी पाप ग्रह की दृष्टि उस पर नहीं पड़ती है तो यह बेहद ही शुभ माना जाता है ज्योतिष अनुसार जब शुभ ग्रहों की नजर पंचम में पड़े तो उसे संतान सुख का संकेत माना जाता है जब श्रोताअें के कुंडली में शुक्र का स्थान शुभ होता है तो वह संतान सुखी और सफलता पाने वाली मानी जाती है। 

what is gajkesari yog in kundali this yog gives success 

जानिए गजकेसरी योग का निर्माण—
ज्योतिष अनुसार अगर किसी जातक की जन्मकुंडली में गजकेसरी योग बनता है तो इसे सौभाग्यशली माना जाता है केंद्र में गुरु और चंद्र एक दूसरे को देख रहे हो तो यह योग बनता है प्रबल या कहें प्रभावकारी गजकेसरी योग का निर्माण गुरु की चंद्रमा पर पांचवी या नवीं दृष्टि से भी ​बनता है अगर गुरु और चंद्रमा कर्क राशि में एक साथ विराजमान हो और कोई अशुभ ग्रह इन्हें न देख रहा है तो ऐसी सिथति में बहुत ही सौभाग्यशाली गजकेसरी योग का निर्माण होता है इसका कारण गुरु को कर्क राशि में उच्च माना गया है और चंद्रमा कर्क राशि का स्वामी होने से स्वराशि के होते हैं मान्यता है कि इस योग के बनने से व्यक्ति अपने जीवन में खूब सफलता और तरक्की हासिल करता है ऐसे लोगों को समाज में मान सम्मान तो मिलता ही है साथ ही ये लोग राजाओं जैसा जीवन जीते हैं और सभी सुखों को हासिल करते हैं। 
what is gajkesari yog in kundali this yog gives success 

Share this story