×

VARANASI आजमगढ़ में सरयू का जलस्‍तर उतार चढ़ाव की ओर, गांवों में फिर पहुंचा नदी का पानी, नाव बनी सहारा

VARANASI आजमगढ़ में सरयू का जलस्‍तर उतार चढ़ाव की ओर, गांवों में फिर पहुंचा नदी का पानी, नाव बनी सहारा

उत्तर प्रदेश न्यूज़ डेस्क !!! सरायमीर कस्बे में लखनऊ- बलिया मार्ग पर लगने वाले जलजमाव के समाधान के लिए नगर पंचायत ने नाला का निर्माण कराया गया है। अधिकारियों की मंशा थी कि बरसात का पानी में नाले के जरिए निकल जाएगा।  जल निकासी की समस्या का समाधान नहीं हुआ। हल्की सी बरसात में ही पूरा रोड जलमग्न हो जाता है। जिससे दुकानदारों सहित राहगीरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सबसे अधिक समस्या छात्र छात्राओं को पानी में से ही गुजरना पड़ रहा है। नगरवासियों ने जल निकासी की व्यवस्था कराए जाने की मांग नगर पंचायत प्रशासन से की है। 

खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि,पिछले एक माह से देवारा क्षेत्र के कई गांवों में बाढ़ का पानी जमा है।संपर्क मार्गों पर भी लबालब पानी भरा हुआ है। सितंबर के शुरुआती दिनों में नदी का जलस्तर तेजी से खिसक रहा था, लौटती धारा में कई गांव के संपर्क मार्ग बह गए हैं। इसके आगे  बताया जा रहा है कि,आवागमन पूरी तरह से बाधित हो गया है। शनिवार से नदी का जलस्तर फिर बढ़ने लगा तो इन मार्गों पर पुनः पानी भर गया है। इसके चलते ग्रामीणों का आवागमन नाव के सहारे ही हो रहा है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि,कई गांव के छात्र भी अपना जान जोखिम में डालकर नाव से ही पढ़ने जा रहे हैं। मंगलवार से एक बार फिर नदी घटने लगी,  देवारा के लोगों की परेशानियों में कोई कमी नहीं आ रही है।

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि, सरयू नदी जून महीने से ही कभी उफान पर, तो कभी घट रही है।जलस्तर में उतार-चढ़ाव के बीच देवारा क्षेत्र के लोगों की दुश्वारियां लगातार बढ़ रही हैं। बगहवा, वासु का पूरा, अचल नगर, हाजीपुर, पांडेय का पूरा, साधु का पूरा, अभनपट्टी, शाहडीह आदि गांवों में बाढ़ का पानी जमा हो गया है।बताया जा रहा है कि,गांगेपुर में कटान तेज होने से रिंग बांध का अस्तिव खतरे में हैं, तो वहीं संक्रामक बीमारियों ने भी पांव पसारना शुरू कर दिया है।सरयू नदी का जलस्तर सोमवार को डिघिया नाले पर 70.86 मीटर था जो मंगलवार को घटकर 70.83 मीटर पर पहुंच गया। बदरहुआ नाले पर नदी का जलस्तर बुधवार को 71.52 मीटर पर था, जो तीन सेंटीमीटर घटकर 71.49 मीटर दर्ज किया गया।

Share this story