×

Moradabad  गर्भवती को खांसी की शिकायत पर झोलाछाप के पास लेकर पहुंचे थे परिजन, टेबलेट खाते ही बिगड़ी हालत

KK
उत्तर प्रदेश न्यूज़  डेस्क !!!मुरादाबाद में एक झोलाछाप डाक्टर की लापरवाही की वजह से जच्चा - बच्चा की जान चली गई। खबरों से प्राप्त जानकर के अनुसार बताया जा रहा है कि,मामला मुरादाबाद के बिलारी कस्बे का है। गर्भवती महिला को खांसी की शिकायत होने पर परिजन उसे लेकर कस्बे में क्लीनिक चलानी वाली एक झोलाछाप डाक्टर के पास पहुंचे थे।

बिलारी थाना क्षेत्र में शाहपुर निवासी संतोष ने पत्नी सुनीता (25 साल) की तबियत खराब होने पर उसे बिलारी में डॉ. रीता सिंह के नारायण हेल्थ केयर सेंटर पर भर्ती कराया था। सुनीता की भाभी गीता का आरोप है कि सुनीता को कोई बड़ी दिक्कत नहीं थी। सिर्फ खांसी की शिकायत पर उसे वहां लेकर गए थे। आपकी जानकारी के लिए बता दे की,   आरोप है कि डाक्टर के टेबलेट देते ही सुनीता की तबियत बिगड़ गई। महिला की हालत नाजुक होने पर डाक्टर ने उसे सरकारी अस्पताल ले जाने सलाह देकर परिजनों को अस्पताल से निकाल दिया। परिजनों का आरोप है कि जब तक वह सुनीता को लेकर सरकारी अस्पताल पहुंचे तब तक उसकी और उसकी कोख में पल रहे बच्चे की मौत हो चुकी थी।बता दें कि,महिला और उसकी कोख में पल रहे बच्चे की मौत के बाद घर वालों ने हंगामा कर दिया। परिजनों ने झोलाछाप डाक्टर के खिलाफ बिलारी पुलिस को तहरीर दी है। बिलारी में संचालित इस क्लीनिक के बोर्ड पर डॉ. रीता सिंह के नाम के आगे स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ लिखा है। लेकिन डाक्टर की डिग्री नहीं लिखी है।

Share this story