×

pratapgarh सफाई कराए बिना पेरोल पर हस्ताक्षर करने वाले प्रधान नपेंगे

pratapgarh सफाई कराए बिना पेरोल पर हस्ताक्षर करने वाले प्रधान नपेंगे

 उत्तर प्रदेश न्यूज़ डेस्क !!!मीडिया रिपेार्ट के अनुसार  बता दें कि, जिले भर में 17 ब्लाक हैं। इसके अंतर्गत एक हजार 193 ग्राम पंचायतें हैं। पंचायतीराज विभाग में दो हजार 200 से अधिक कर्मियों की तैनाती हुई है। इसमें करीब 200 कर्मियों का पद रिक्त चल रहा है। ग्राम पंचायतों के सार्वजनिक स्थान (पंचायत भवन, प्राथमिक विद्यालय, आंगनबाड़ी केंद्र आदि) की साफ-सफाई किए जाने को लेकर सफाई कर्मियों की तैनाती हुई है। सफाई कर्मी केवल ग्राम प्रधानों के यहां सफाई करके घर चले जाते हैं। बताया जा रहा है कि,  प्रधान रिपोर्ट लगाकर पेरोल ब्लाक में भेज देते हैं। सफाई के नाम पर हो रही लापरवाही पर पंचायतीराज महकमा सख्त हो गया है। अगर अब गांव के सार्वजनिक स्थानों की सफाई किए बिना सफाई कर्मी के पेरोल पर प्रधान हस्ताक्षर किए।

 सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि,शिकायत पर पहुंची जांच टीम को गांव में गंदगी मिली तो वह कार्रवाई की जद में होंगे। इसके अलावा फर्जी रिपोर्ट लगाने वाले एडीओ पंचायत भी नपेंगे। डीपीआरओ रवि शंकर द्विवेदी ने बताया कि ग्राम पंचायतों में साफ-सफाई कराए बिना पेरोल पर हस्ताक्षर करने वाले प्रधानों पर कार्रवाई होगी। एडीओ पंचायत भी कार्रवाई की जाएगी।डीपीआरओ ने सभी ब्लाकों के एडीओ पंचायतों को पत्र के जरिए सचेत किया है। कहा कि अगर बिना सत्यापन किए पेरोल पर रिपोर्ट लगाई तो वह भी कार्रवाई की जद में होंगे।

खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि माह में पांच से 10 गांवों में जाकर साफ-सफाई का जायजा लें। रिपोर्ट भेजें। जो लापरवाही बरत रहे हैं, उनके विरुद्ध कार्रवाई होगी।यह शिकायत मिलती रहती है कि गांव में तैनात सफाई कर्मी सार्वजनिक स्थानों की सफाई नहीं कर रहे हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि,बिना सफाई किए प्रधान उनके पेरोल पर हस्ताक्षर करके एडीओ पंचायत के पास भेज दे रहे हैं। एडीओ भी बिना सत्यापन किए उसे बीडीओ के पास भेज देते हैं। हर माह निर्धारित वेतन उनको मिल जाता है। इससे स्वच्छता अभियान को पलीता लग रहा है। इस पर डीपीआरओ सख्त हो गए हैं।

Share this story