×

NOIDA  पहले पति से धोखा मिलने पर खड़ी कर दी 150 करोड़ रुपये की ठग कंपनी

1234
  उत्तर प्रदेश न्यूज़ डेस्क !!!   दिल्ली-एनसीआर के 17 हजार लोगों से बाइक चलवाने के नाम पर ठगी करने वाले दंपती के जीवन की कहानी किसी फिल्मी स्टोरी से कम नहीं है। सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि कानून का शिकंजा कसते ही दंपती ने जेल में पहले दिन खाना नहीं खाया। पहले पति से धोखा मिलने पर मीनू सेन ने दूसरे पति अनिल के साथ मिलकर 150 करोड़ की ठग कंपनी खड़ी कर दी। उसका नाम गो वे रखा गया। बाइक बोट की तर्ज पर निवेशकों को एक साल में निवेश रकम दो गुना वापस करने का झांसा दिया गया।खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि, हैरानी की बात यह है कि मीनू के प्रेम जाल में फंसे अनिल ने अपने बच्चों को नकार दिया और सौतेले बेटे कृणाल के नाम करोड़ो की प्रापर्टी कर दी। ठगी की रकम से सौतेले बेटे के लिए महंगी कार तक खरीदी। कृणाल मीनू का पहले पति से बेटा है।

एडिशनल डीसीपी विशाल पांडेय ने बताया कि अनिल पूर्व में फैक्टरी में नौकरी करता था। वह मध्यम परिवार से था। उसकी मुलाकात वहां मीनू से हुई। इसी बीच मीनू का पहले पति से अलगाव हो गया। अनिल व मीनू की प्रेम कहानी शुरू हुई और दोनों ने शादी कर ली। खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि,मीनू ने ही बेटे के साथ मिलकर अनिल को ठग कंपनी सेटअप करने का आइडिया दिया। महज एक साल के अंदर दिल्ली-एनसीआर के 17 हजार निवेशकों को जाल में फंसा लिया गया। एच्छर चौकी प्रभारी शैलेंद्र तोमर ने बताया कि केस में आरोपित मीनू का बेटा कृणाल ठगी के दौरान गो वे कंपनी के आफिस में बैठता था। वह भी निवेशकों को रकम निवेश करने का झांसा देता था। आपकी जानकारी के लिए बता दें किकृणाल के अलावा पुलिस इस मामले में प्रबंधक प्रदीप की तलाश भी कर रही है।

Share this story