×

Kanpur 84 साल के बुजुर्ग ने लिया कानपुर की यूनिवर्सिटी में दाखिला, जाेश और जज्बे को देख शिक्षकों ने किया सलाम

After Smriti Mandhana, Harmanpreet Kaur, Shefali Verma also did away with The Hundred, due to which the Indian opener left
उत्तर प्रदेश न्यूज डेस्क !!!

कौन हैं सीताराम: 84 वर्षीय सीताराम श्रीवास्तव कानपुर के नवाबगंज क्षेत्र के निवासी हैं। पीएफ कार्यालय से 1995 में इनफोर्समेंट आफिसर के पद पर रिटायर हो चुके हैं।  उनके दो बेटे और दो बेटियां हैं। बड़ा बेटा ललित कुमार डिफेंस में साइंटिफिक आफिसर है, जबकि छोटा बेटा अशोक कुमार एडवरटाइजिंग एजेंसी चलाता है। 

बताया, कैसे आया एलएलबी करने का विचार: सीताराम श्रीवास्तव ने स्वयं बताया कि आखिर उन्हें वीएसएसडी कालेज से एलएलबी करने का विचार कैसे आया। उन्हाेंने बताया कि उनकी पत्नी कृष्णा देवी की 1998 में एसजीपीजीआइ में इलाज में लापरवाही से मृत्यु हो गई थी। उन्होंने उपभोक्ता फोरम, स्टेट और नेशनल कमिशन में अपील की। मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया। आखिर में उन्हें न्याय मिला। उन्होंने कानून की सारी प्रक्रिया का अनुभव बेहतर ढंग से कर लिया तो अब वे कानून का ज्ञान और उसकी डिग्री हासिल करना चाहते हैं। बता दें कि उनकी जिजिविषा को देख वकील और बार एसोसिएशन के पदाधिकारी भी उनके कायल हो गए। 

Share this story