×

GAZIABAD में करोड़ों का लोन दिलाने के नाम पर दलाल ने फल कारोबारी से रिश्वत मांगी, रिश्वत नहीं मिलने पर मंगवाई रंगदारी

1234

उत्तर प्रदेश न्यूज़ डेस्क !!!गाजियाबाद के लोनी बॉर्डर इलाके में करोड़ों रुपये का लोन दिलाने के नाम पर एक फल कारोबारी से दलाल ने 10 लाख रुपये की रिश्वत मांगी। रिश्वत नहीं देने पर दो बदमाशों को भेजकर कारोबारी को धमकवाया। दोनों बदमाशों ने माफिया मुख्तार अंसारी का नाम लेकर 10 लाख की रंगदारी न देने पर जान से मारने की धमकी दी।खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है क इस मामले में पुलिस ने 14 सितंबर को केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

साहिबाबाद में सब्जी मंडी निवासी रामअवतार राणा ने राजकुंड राजनगर के कन्हैयालाल अवस्थी और लोनी बॉर्डर निवासी दो अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा थाना लोनी बॉर्डर में दर्ज कराया है। रामअवतार राणा के अनुसार, श्रीराम अवतार फ्रूट कंपनी इंडिया लिमिटेड नाम से उनका फलों का थोक कारोबार है।  आपकी जानकारी के लिए बता दें कियहां से अनेक मंडियों में माल सप्लाई होता है। इस दौरान रामअवतार की मुलाकात कन्हैयालाल अवस्थी से हुई। कन्हैयालाल के बारे में बताया गया कि वह व्यापारियों को बड़े लोन दिलाता है।
 

रामअवतार को झांसा दिया गया कि फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाने के लिए वह सस्ते ब्याज दर पर सब्सिडी वाला लोन दिला देगा। 15 अगस्त 2019 को कन्हैयालाल ने रामअवतार से सारे दस्तावेज ले लिए। रामअवतार ने बताया कि उन्होंने जो ब्लैंक चेक दिए थे, उनके जरिये अक्तूबर-2019 में 27 लाख रुपये निकालने का प्रयास किया गया। बैंक की सक्रियता से यह पैसा निकलने से बच गया।
 

फल कारोबारी ने बताया कि कुछ दिनों बाद कन्हैयालाल ने लोन स्वीकृत होने की जानकारी दी और इसके बदले 10 लाख रुपये मांगे। रिश्वत न देने पर उसने 11 जुलाई को दो अज्ञात व्यक्ति रामअवतार के घर भेजे और माफिया मुख्तार अंसारी का नाम लेकर धमकाया व 10 लाख की रंगदारी मांगी। 14 सितंबर को एसएसपी के आदेश पर थाना लोनी बॉर्डर में यह मुकदमा दर्ज किया गया है। केस की जांच सब इंस्पेक्टर विनोद कुमार को दी गई है।

Share this story