×

Gorakhpur  कान का इलाज कराने पहुंची थी, पब्लिक ने पीटा

Busarबक्सर में अब मोबाइल की तरह बिजली भी प्रीपेड होगी इस्तेमाल
उत्तर प्रदेश न्यूज़ डेस्क !!! महिला का आरोप है कि डॉक्टर उसके साथ अश्लील हरकत कर रहा था। खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि,शोर सुनकर जुटी भीड़ ने डॉक्टर की जमकर पिटाई कर दी और फिर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस मामले की पड़ताल कर रही है।सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है किआरोपी डॉक्टर कांग्रेस जनजाति मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष भी है। वह पहले भी ऐसी करतूत के लिए जेल जा चुका है। उस पर देर रात केस दर्ज कर लिया गया है।

गगहा इलाके के सिहाइचपार के रहने वाले डॉक्टर गणेश गोंड ने कौड़ीराम कस्बे में सर्वोदय किसान इंटर कॉलेज के पास रेशमदीप ईएनटी क्लीनिक खोल रखा है। मंगलवार की शाम इलाके की ही एक महिला अपनी बड़ी बहन के साथ कान का इलाज कराने क्लीनिक पर पहुंची।मीडिया रिपेार्ट के अनुसार  महिला का आरोप है कि डॉक्टर उसे अकेले चैंबर में बुलाकर चेकअप के बहाने अश्लील बातें करने लगा।डॉक्टर की हरकत से हैरान महिला रोते चीखते चैंबर से निकली और हंगामा करने लगी। महिला का शोर सुनकर आसपास के लोग जुट गए और आरोपी डॉक्टर को चैंबर से बाहर निकाल कर पिटाई शुरू कर दी। गौरतलब है की डॉक्टर ने भागकर किसी तरह भीड़ से जान बचाई। इसके बाद नाराज लोगों ने डॉक्टर को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया।

पहले भी जेल जा चुका है डॉक्टर
इससे पहले डॉक्टर गणेश गोंड पर बीते साल 17 अक्टूबर को एक महिला ने अश्लील हरकत करने का आरोप लगाया था। इस मामले में डॉक्टर पहले जेल भी जा चुका है। गगहा इलाके की ही एक महिला को गले में दर्द था। इलाज कराने आई महिला को डॉक्टर ने टांसिल की समस्या बताते हुए अश्लील हरकत शुरू कर दी थी थी। उस समय भी मौके पर जुटे लोगों ने पिटाई करने के बाद पुलिस को सुपुर्द कर दिया था। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी डॉक्टर को जेल भेजा था।

कांग्रेस जनजाति मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष है आरोपी डॉक्टर
वहीं, अश्लील हरकत का आरोपी डॉक्टर गणेश गोंड कांग्रेस पार्टी के अनुसूचित जनजाति प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष है। इसके पहले वह गोंडवाना पार्टी का राष्ट्रीय पदाधिकारी भी रह चुका है। डॉक्टर गणेश खुद को नाक कान और गला की सर्जरी का मास्टर डिग्री धारक बताता है। उसने अपनी कार पर गुरु गोरक्षनाथ चिकित्सालय का पूर्व चिकित्साधिकारी भी लिखवा रखा है। इसके अलावा वह गोरखपुर से लेकर कुशीनगर तक विभिन्न जगहों पर क्लीनिक भी खोल रखा है।

आरोपी डॉक्टर बोला- बेबुनियाद आरोप लगे
आरोपी डॉक्टर गणेश गोंड का कहना है कि एक महिला कान बहने का इलाज कराने आई थी। उसके कान का पर्दा फटने की बात सुनते ही उसको चक्कर आ गया। चैंबर से निकल कर बेबुनियाद आरोप लगाने लगी।

Share this story