×

Bareilly शाहजहांपुर की वीनस जर्मनी में जगा रही हिंदी की अलख

Take home this electric bike on EMI of around Rs 1200, will run 100 km on full charge
उत्तर प्रदेश न्यूज़  डेस्क !!!

हिंदी के प्रचार प्रसार में जिले के लोगों ने काफी योगदान दिया। अपनी साहित्य रचना से राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाई। कुछ ऐसे भी हैं जो विदेशों तक में इस पर काम कर रहे हैं। बरसों पहले अपना देश छोड़कर जा चुके भारतीयों को हिंदी से जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं। शहर की लेखक व कवि वीनस जैन भी उनमें से एक हैं। पिपरौला के कृभको नगर में रहने वालीं वीनस यहां से जर्मनी में रह रहे बच्चों को हिंदी पढ़ा रही हैं। छह माह से चल रही आनलाइन साप्ताहिक क्लास में अभी 14 बच्चे जुड़े हैं। ये बच्चे हिंदी बोलने के साथ ही सही शब्द लिखने लगे हैं। उनके माता-पिता भी रुचि ले रहे हैं।

गायत्री मंत्र से होती शुरुआत

वीनस यह कार्य लिपि नाम की संस्था से जुड़कर कर रही हैं। उनकी हिंदी की पाठशाला प्रत्येक शनिवार को लगती है। शुरुआत गायत्री मंत्र व गीता के श्लोक से होती है। उसके बाद वर्णमाला ज्ञान से लेकर व्याकरण के बारे में जानकारी दी जाती है। हिंदी भाषा को पढ़ने व लिखने का अभ्यास कराया जाता है। बच्चों को होमवर्क भी दिया जाता है। हर सप्ताह माता पिता से फीडबैक भी लिया जाता है। वीनस की सेवाएं व क्लास निश्शुल्क है।

Share this story