×

Bareilly  प्यारी बिटिया ने खोला चौंकाने वाला राज, बरेली के 28 डॉक्टर प्रदेश भर में चला रहे 149 अल्ट्रासाउंड सेन्टर

GANGANAGAR
उत्तर प्रदेश न्यूज़ डेस्क !!!सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि,जिले में पंजीकृत 28 डाक्टरों के नाम पर प्रदेश भर में 149 अल्ट्रासाउंड सेंटर हैं। हैरान हो गए न...। औसत निकालें तो हर डाक्टर पर चार से पांच सेंटर आते हैं। लेकिन हैरत की बात है कि इनमें से कुछ डाक्टर ऐसे भी हैं, जिनके नाम पर पांच-दस नहीं बल्कि 28 अल्ट्रासाउंड सेंटर तक हैं। खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि,वहीं बात पीसी-पीएनडीटी एक्ट यानी पूर्व गर्भाधान एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक अधिनियम-1994 की करें तो एक डाक्टर के नाम पर अधिकतम दो अल्ट्रासाउंड सेंटर हो सकते हैं, वो भी एक ही जिले में।खास बात कि ये सारा आंकड़ा किसी निजी सर्वे एजेंसी या मीडिया रिपोर्ट्स का नहीं, बल्कि रिकार्ड पीसी-पीएनडीटी एक्ट के लिए प्रदेश सरकार की वेबसाइट प्यारी बिटिया पर दर्ज है। बावजूद इसके फर्जी तरीके पर अल्ट्रासाउंड सेंटर चला रहे लोगों और स्वास्थ्य महकमे का कांकस इतना मजबूत है कि पीसी-पीएनडीटी एक्ट की गाइडलाइन की धज्जियां खुलेआम उड़ रही हैं और इसकी हकीकत दिखाने के बावजूद अधिकारी हरकत में नहीं आ रहे।

‘प्यारी बिटिया’ पोर्टल पर कई नाम उजागर होने के बाद सूबे में सबसे ज्यादा 29 अल्ट्रासाउंड सेंटरों में पंजीकरण डा. अधीश पार्शिवाल जेम्स कलीफोर्ड का मिला था। जून तक जारी रिपोर्ट के बावजूद अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की, इससे पूरे फर्जीवाड़े में अधिकारियों के साथ गहरी साठगांठ का अंदाजा लगाया जा सकता है। खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि,पांच सितंबर को पीसी-पीएनडीटी एक्ट में मुकदमा दर्ज करने के आदेश खुद पीसी-पीएनडीटी के संयुक्त निदेशक संजय कुमार को देने पड़े थे। डा.अधीश का बरेली में एसजेड जनता डायग्नोस्टिक सेंटर भी है। हालांकि बरेली में उनका अल्ट्रासाउंड सेंटर सील कर मुकदमा दर्ज करने की कवायद पहले ही शुरू हो गई थी।

Share this story