×

KOTA  कोचिंग हब कोटा में बिगड़ने लगे हालात, 9 माह से बंद पड़े हैं 

KK

राजस्थान न्यूज़ डेस्क !!! CM गहलोत सरकार द्वारा अब तक निर्णय नहीं करने के कारण देश में कोचिंग हब के रूप में प्रसिद्ध कोटा की कोचिंग इंडस्ट्री को काफी झटका लगा है। आपकी जानकारी के लिए बता दे की, सरकार का निर्णय नहीं होने से कोटा की 3000 करोड़ की कोचिंग इंडस्ट्री ठप पड़ी है। कोटा के निजी कोचिंग व हॉस्टल संचालकों का कहना है कि राज्य सरकार द्वारा निर्णय नहीं किए जाने का सीधा फायदा अन्य राज्यों के कोचिंग सेंटर्स को मिल रहा है।  खबरों से प्राप्त जानकर के अनुसार बताया जा रहा है कि, देश के विभिन्न राज्यों से कोटा आने वाले स्टूडेंट्स अब अन्य राज्यों में कोचिंग के लिए जा रहे हैं। हॉस्टल एसोसिएशन के अध्यक्ष शुभम अग्रवाल का कहना है कि कोरोना काल में कोटा में कोचिंग सेंटर्स की हालत खस्ता है।

कई राज्यों में स्कूल और कोचिंग सेंटर्स खोलने को लेकर निर्णय हुआ है। लेकिन राजस्थान सरकार ने अब तक ऐसा नहीं किया।इस मामले में देरी किए जाने से कोचिंग और हॉस्टल इंडस्ट्री को बड़ा झटका लगा है ।प्रदेश के स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल खुद मानते हैं कि कोटा का आर्थिक पहिया पिछले कई महीनों से जाम है। कोचिंग संचालकों का कहना है कि 9 माह से बंद होने के कारण स्टूडेंट्स अपने घर चले गए थे। कोचिंग व हॉस्टल संचालकों ने लोन लेकर निर्माण कार्य कराए थे। ऐसे में अब लोन की किश्त जमा कराना भी मुश्किल हो रहा है। 

Share this story