×

Banswara एक ही मंडप में युवक ने 2 दुल्हनों के साथ लिये सात फेरे, महिलाओं ने गाए मंगल गीत

k

आदिवासी बहुल बांसवाड़ा शहर से करीब 70 किलोमीटर दूर आनंदपुरी पंचायत के कड्डा गांव में अनोखी शादी का मामला सामने आया है. यहां एक युवक ने एक ही समय में दो युवतियों से शादी कर अपनी ही शादी को चर्चा में ला दिया है. आदिवासी क्षेत्रों में स्थानीय लोगों की एक से अधिक पत्नियां होना आम बात है, लेकिन एक ही मंडप में दो युवतियों की शादी के कारण यह मामला चर्चा का विषय बना हुआ है।

गांव कड्डा निवासी दिनेश की 24 अप्रैल को शादी हुई थी। यह शादी अपने आप में अनोखी है क्योंकि युवक ने जिन दो युवतियों से शादी की है, वे अलग-अलग गांवों की हैं। एक का नाम सीता और दूसरे का नाम गीता है। इस शादी के दौरान समाज के सभी लोग जो आम तौर पर शादियों में मौजूद होते हैं, मौजूद थे. इस शादी का किसी ने विरोध नहीं किया। शादी शनिवार की रात सभी पारंपरिक रीति-रिवाजों के साथ हुई। इसमें युवक दो युवतियों के साथ एक ही मंडप में चल दिया। जनजातीय क्षेत्रों में प्रचलित रीति-रिवाजों में से एक है 1 से अधिक पत्नी रखना।

आदिवासी व्यक्ति को यदि कोई महिला भा जाए और दोनों एक-दूसरे के साथ रहने के लिए राजी हों तो महिला अपने पहले पति और परिवार को छोड़कर दूसरे के साथ रहने के लिए चली जाती है. इसे यहां नातरे कहा जाता है. इसी नातरे प्रथा के तहत यहां पर बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं, जिनकी एक से ज्यादा पत्नियां हैं. क्षेत्र में इससे पूर्व 2014 में भी इस तरह की शादी हुई थी. उसमें भी एक युवक ने एक ही मंडप में दो युवतियों से ब्‍याह किया था.

Share this story