Samachar Nama
×

राजस्थान का ऐसा भूतिया किला जिसमे था 'आत्मा का खौफ' डर कर भाग जाते थे मजदूर, वीडियो में जाने इसकी खौफनाक कहानी

विविधता में एकता का देश भारत दुनिया भर में अपनी विविधता के लिए जाना जाता है। यहां के हर राज्य की अपनी-अपनी खासियत है, जिसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग हमारे देश में आते हैं। राजस्थान भारत का एक ऐसा राज्य...
sdafd

राजस्थान न्यूज डेस्क !!! विविधता में एकता का देश भारत दुनिया भर में अपनी विविधता के लिए जाना जाता है। यहां के हर राज्य की अपनी-अपनी खासियत है, जिसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग हमारे देश में आते हैं। राजस्थान भारत का एक ऐसा राज्य है, जो अपनी रंग-बिरंगी संस्कृति और परंपराओं के लिए दुनिया भर में जाना जाता है। इस राज्य का अपना समृद्ध इतिहास है, जिसका प्रमाण आज भी इस राज्य में देखा जा सकता है। यहां कई ऐतिहासिक स्मारक हैं, जो इसके समृद्ध इतिहास को दर्शाते हैं।

राजस्थान को किलों और महलों का राज्य भी कहा जाता है। यहां कई खूबसूरत किले और महल हैं, जिन्हें देखने दूर-दूर से लोग आते हैं। राज्य की राजधानी जयपुर में भी ऐसे खूबसूरत किले और महल हैं, जिन्हें देखने के लिए बहुत से लोग यहां आते हैं। इन्हीं किलों में से एक है नाहरगढ़ किला, जो भारत के सबसे मशहूर किलों में से एक है। यहां हर साल भारी संख्या में पर्यटक आते हैं। आइए जानते हैं इस किले का इतिहास और इससे जुड़ी दिलचस्प बातें-

राजस्थान टूरिज्म की वेबसाइट के मुताबिक, नाहरगढ़ किला अरावली पहाड़ियों की चोटी पर स्थित है। इस किले का निर्माण वर्ष 1734 में जय सिंह के शासनकाल के दौरान किया गया था और बाद में वर्ष 1868 में इसका विस्तार किया गया था। नाहरगढ़ का अर्थ है बाघों का निवास। यह किला विशेष रूप से हमलावर दुश्मनों से जयपुर की रक्षा के लिए बनाया गया था। यह किला आज भी पूरी दुनिया में आकर्षण का केंद्र है और इसकी खूबसूरती देखने के लिए देश भर से लोग बड़ी संख्या में यहां आते हैं।

पहले इस किले का नाम सुदर्शनगढ़ था, लेकिन बाद में इसका नाम युवराज नाहर सिंह के नाम पर रखा गया जिनकी इसी स्थान पर हत्या कर दी गई थी। दरअसल, युवराज का भूत चाहता था कि इस किले का नाम उसके नाम पर रखा जाए। अपनी खूबसूरती के लिए मशहूर यह किला अपनी भूतिया कहानी के लिए भी मशहूर है। कहा जाता है कि किले के निर्माण के दौरान कई ऐसी गतिविधियां हुईं, जिससे डरकर मजदूरों को भागने पर मजबूर होना पड़ा। दरअसल, लोगों का कहना है कि इस किले में मजदूर जो भी काम करते थे, वह अगले दिन नष्ट हो जाता था, जिसके कारण महल का निर्माण कार्य पूरा नहीं हो पाता था और मजदूर बहुत डर जाते थे।

पर्यटन के अलावा यह किला बॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग के लिए भी मशहूर है। अभिनेता आमिर खान अभिनीत फिल्म रंग दे बसंती की शूटिंग यहीं हुई थी। तभी से यह किला लोगों के बीच और भी मशहूर हो गया। दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने भी अपनी फिल्म शुद्ध देसी रोमांस के लिए यहां शूटिंग की है।

Share this story

Tags