×

BIKANER  निजी स्कूल में पेपर लीक, तीन दिन के एग्जाम में रोज 5 लाख रुपए में सौदा

Take home this electric bike on EMI of around Rs 1200, will run 100 km on full charge
राजस्थान न्यूज़ डेस्क !!! 2 नाबालिगों के साथ ही 10 युवकों को गिरफ्तार किया गया है।तीन दिन के एग्जाम के लिए समय से पहले पेपर लीक करने को 15 लाख रुपए में सौदा हुआ और 3 लाख एडवांस लिए गए। मीडिया रिपेार्ट के अनुसार , बीकानेर के रामपुरा में स्थित प्राइवेट स्कूल रामसहाय आदर्श सेकेंडरी स्कूल में सोमवार को SI की परीक्षा होनी थी। कुछ युवकों ने मिलकर पेपर निकालकर उसके जवाब वॉट्सऐप पर जारी करने की योजना बना ली। स्कूल सचिव दिनेश सिंह चौहान ने इस काम के लिए हर रोज पांच लाख रुपए मांगे थे और तीन लाख रुपए एडवांस में भी ले लिए। योजना के तहत पेपर निकालकर दिनेश सिंह ने राजाराम विश्नोई के मोबाइल से फोटो खींचे और उसी के नंबर से वॉट्सऐप से युवक नरेंद्र खींचड़ को शेयर किए। नरेंद्र खींचड़ ने कोचिंग देवे वाले एक टीचर नरेशनदान चारण को पेपर भेज दिए। बीकानेर से एसआई की परीक्षा दे रहे दिनेश बेनीवाल, नरेंद्र खीचड़ सहित सुरेश कुमार विश्नोई, राजाराम विश्नोई, विकास विश्नोई, दो नाबालिग, स्कूल सचिव दिनेश सिंह चौहान, कोचिंग टीचर नरेशदान चारण इस पूरे प्रकरण में शामिल थे।सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि, पुलिस सब इंस्पेक्टर बनने के लिए फर्जीवाड़ा करने वालों के खिलाफ स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के इनपुट पर बीकानेर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। राजाराम विश्नोई के मोबाइल से खींचे गए पेपर के फोटो नरेंद्र खींचड़ ने चारण सहित इन सभी स्टूडेंट्स व नाबालिग के साथ मिलकर हल किए।परीक्षा से पहले पेपर लीक के इस प्रकरण में इन सभी 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इन्होंने कितने अभ्यर्थियों को पेपर लीक किए और उनसे कितने-कितने पैसे लिए, इसकी जांच की जा रही है। बताया जा रहा है कि हजारों की संख्या में अभ्यर्थियों के पास पेपर लीक होकर वॉट्सऐप के जरिए पहुंच गया। हालांकि इसकी जांच करने में अभी समय लगेगा।

Share this story