×

KOTA  केंद्र-राज्य की सरकारों को चेताया, 10 दिन में वार्ता की दी चेतावनी, पीएम के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौपा

GANGANAGAR

राजस्थान न्यूज़ डेस्क !!! आसमान से बरसती बूंदों के बीच सर्किट हाउस से कलेक्ट्री तक रैली निकाली। रैली के दौरान किसानों ने हाथों में तख्तियां और बैनर लेकर जमकर नारेबाजी की।संघ के जगदीश कलमंडा ने चेतावनी देते हुए कहा कि 10 दिवस में वार्ता की सूचना प्राप्त नहीं हुई तो भारतीय किसान संघ सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर होगा।खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि,भारतीय किसान संघ ने लाभकारी मूल्य की मांग को लेकर कलेक्ट्रेट पर हल्लाबोल प्रदर्शन किया। किसानों को उपज का पूरा दाम नहीं मिलना ही आशांति का सबसे बड़ा कारण है। एमएसपी तय होने के बावजूद मंडियों में किसानों की उपज उससे कम दाम पर ही बिकती है। 

स्वतंत्र बाजार व्यवस्था विकसित नहीं हो सकी। उत्पादन करने वाला किसान कर्जदार होकर गरीबी के दलदल में फंसता जा रहा है। न्यूनतम समर्थन मूल्य के बजाय लागत के आधार पर लाभकारी मूल्य देने,फसल खराबे की मुआवजा राशि को दोगुना करने ओर संपूर्ण रकबे पर खराबा देने सहित अन्य मांगे रखी। साथ ही कृषि कानूनों का समर्थन करते हुए उनमें संशोधन की मांग की। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि,कृषि उत्पादों के मूल्य को हमेशा नियंत्रित किया जाता रहा है। रैली में इटावा,सुल्तानपुर खातोली, पीपल्दा, रामगंजमंडी, रावतभाटा, देवली, कनवास, सांगोद तहसीलों से बड़ी संख्या में किसान शामिल होने आए।कईं किसान ट्रैक्टर ट्रोली लेकर भी पहुंचे।

Share this story