×

RANCHI RIMS Ranchi मेडिकल कालेज में मारपीट करने वाले 18 छात्रों को हॉस्टल से निकाला गया

RANCHI RIMS Ranchi मेडिकल कालेज में मारपीट करने वाले 18 छात्रों को हॉस्टल से निकाला गया

झारखण्ड न्यूज़ डेस्क !!! पिछले महीने 4 सितंबर को रिम्स मेडिकल कॉलेज के छात्रावास में जूनियर व सीनियर छात्रों के बीच हुई भीषण मारपीट की घटना के बाद रिम्स प्रबंधन ने 18 छात्रों को छात्रावास से निष्कासित करने का आदेश जारी किया है। छात्रों के खिलाफ अनुशासनात्मक अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है। छात्रों को इस माह तक छात्रावास खाली करने को कहा गया है। छात्रावास वार्डन को निर्देश दिया गया है कि छात्रों को निकालने के साथ ही डीन को इसकी सूचना दें।

इनमें से पांच छात्रों को एक साल के लिए निष्कासित किया गया है, जबकि 13 छात्रों को तीन महीने के लिए छात्रावास से निष्कासित किया गया है। प्रबंधन के मुताबिक 2019 बैच के छात्रों और सीनियर छात्रों के बीच किसी बात को लेकर हंगामा हो गया। 

यह छात्रों के बीच हाथापाई की घटना है। जूनियर छात्रों ने घटना वाले दिन रैगिंग का आरोप लगाया था, लेकिन जांच में इसकी पुष्टि नहीं हुई। प्रबंधन ने रैगिंग के मामले को लेकर एक जांच कमेटी का गठन भी किया था। इसकी रिपोर्ट मिलने के एक माह बाद यह कार्रवाई की गई है।

जिन छात्रों पर कार्रवाई की गई है उनमें एमबीबीएस 2019 सत्र के 11 छात्र, एमबीबीएस 2016 के दो छात्र, एमबीबीएस 2014 के एक छात्र, बीडीएस 2019 के दो छात्र, एमएसआई 2018-21 के एक छात्र और डीटीएमएस 2019-21 के एक छात्र शामिल हैं।

चार सितंबर को 2019 बैच की पूरक परीक्षा समाप्त होने के बाद से जूनियर छात्रों में हड़कंप मच गया था। वहीं, पीजी के 11 छात्रों ने नीट पीजी की परीक्षा दी थी। इससे सीनियर छात्रों को पढ़ाई करने में दिक्कत हो रही थी। यही शोर पीजी के छात्रों को भी हुआ और देर रात पीजी के छात्रों ने जूनियर छात्रों को फटकार लगाई और आरोप लगाया कि रैगिंग के दौरान जूनियर छात्रों को मुर्गा भी बनाया गया। अगले दिन जूनियर डॉक्टर पीजी हॉस्टल पहुंचे और जमकर मारपीट हुई।

'इन सभी छात्रों को छात्रावास से निष्कासित कर दिया गया है। साथ ही यह भी निर्देश दिया गया है कि वे किसी अन्य छात्र के साथ कमरे में नहीं रह सकेंगे और मेस व कैंटीन की सुविधा भी बंद कर दी गई है। - डॉ. डीके सिन्हा, पीआरओ, रिम्स।

रांची न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story