×

JAIPUR  सरकार पर कोरोना गाइडलाइन के नाम पर बेरोज़गार युवाओं से लुका छिपी करने के आरोप

GANGANAGAR

राजस्थान न्यूज़ डेस्क !!! कोरोना गाइडलाइन की आड़ में सरकार बेरोज़गारों से लुका छिपी का खेल खेल रही है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि,लेकिन सरकार यह बात ध्यान से सुन ले- क्रान्ति मार्च स्थगित हुआ है, रद्द नहीं। बेरोज़गार युवा किसी भी सूरत में सरकार को बख्शने को तैयार नहीं हैं। आंदोलन की आगे की रणनीति को लेकर बेरोज़गार साथी युवाओं से चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा इस मार्च के लिए प्रदेशभर से लाखों युवाओं की भीड़ जयपुर में जुटने को तैयार थी,कोरोना गाइडलाइन की आड़ में सरकार ने उन्हें रोकने की कोशिश की है।खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि,बीजेपी के राज्यसभा सांसद डॉ किरोड़ीलाल मीणा ने 13 सितम्बर को राजस्थान विधानसभा का घेराव और क्रान्ति मार्च स्थगित कर दिया है। सरकार को इस बात का डर है कि अगर लाखों की संख्या में बेरोजगार जयपुर पहुंच गए, तो उसके लिए बड़ी मुश्किल पैदा हो सकती है।यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों में फीस और परीक्षा शुल्क के नाम पर छात्रों की लूट को बंद करें। .

.RAS सहित अन्य भर्तियों में साक्षात्कार को बंद कराया जाए।राज्य के अलग-अलग सरकारी विभागों में खाली पड़े सभी पदों को भरा जाए।शिक्षा का व्यवसायीकरण बंद किया जाए.सरकारी स्कूलों और कॉलेजों की तरह प्राइवेट स्कूलों और कॉलेजों में ST/SC/OBC/EWS और अन्य स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप समेत सभी तरह की सरकारी सहायता दी जाए। सांसद डॉ किरोड़ीलाल मीणा बुधवार को जयपुर के आमेर में इसी आंदोलन के लिए युवाओं से आह्वान और जनसम्पर्क करने पहुंचे। तो बड़ी तादाद में स्थानीय युवाओं और महिलाओं ने उनके स्वागत में देसी नाच और गाने का कार्यक्रम कर दिया। हरियाणा की तर्ज पर राजस्थान के बेरोजगार युवाओं को निजी क्षेत्र की नौकरियों में 70% आरक्षण मिले .सरकारी नौकरियों में बाहरी राज्यों का कोटा 5% तक सीमित करवाएं।जिसमें ढूंढ़ाढ़ी गानों पर डॉ किरोड़ीलाल मीणा भी खुद को थिरकने से नहीं रोक पाए। महिलाओं और युवाओं के साथ वे भी जमकर नाचने लगे।

Share this story