×

Shimla बगावत पर उतरे भाजपा आईटी प्रकोष्‍ठ के संयोजक चेतन बरागटा, पार्टी से छह साल के लिए निष्‍कासित

Shimla बगावत पर उतरे भाजपा आईटी प्रकोष्‍ठ के संयोजक चेतन बरागटा, पार्टी से छह साल के लिए निष्‍कासित

हिमाचल प्रदेश न्यूज़ डेस्क !!! हिमाचल प्रदेश भारतीय जनता पार्टी ने चेतन ब्रगटा के खिलाफ कार्रवाई की है। प्रदेश अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने चेतन को छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है। चेतन ब्रगटा भाजपा के आईटी सेल के प्रदेश संयोजक थे, लेकिन मौजूदा विधानसभा उपचुनाव में उन्होंने टिकट न मिलने पर जुब्बल-कोटखाई निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन किया था। नीलम सरायक को भारतीय जनता पार्टी ने टिकट दिया है। बुधवार को नामांकन पत्र वापस लेने का आखिरी दिन था और चेतन ने अपना नामांकन वापस नहीं लिया। चेतन दिवंगत जुब्बल-कोटखाई विधायक और राज्य के बागवानी और तकनीकी शिक्षा मंत्री नरेंद्र ब्रगटा के बेटे हैं। मुख्यमंत्री समेत कई नेताओं ने उन्हें मनाने की कोशिश की थी कि वह अपना नामांकन वापस ले ले। पार्टी की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक चेतन पर यह कार्रवाई पार्टी के अधिकृत उम्मीदवार के खिलाफ नामांकन दाखिल करने पर की गई है।

चेतन ब्रगटा के समर्थकों का कहना है कि वह दो महीने से जुब्बल-कोटखाई में चुनाव प्रचार कर रहे थे और उन्हें उम्मीद थी कि नरेंद्र ब्रगटा के सपनों को पूरा करने के लिए बीजेपी उनके बेटे चेतन को टिकट देगी।  पार्टी ने फैसला किया कि वह सहानुभूति के कारण मृतक नेता के परिजनों को टिकट नहीं देगी। बीजेपी ने यहां एक महिला उम्मीदवार को चुना और उम्मीदवार नीलम सरायक को बनाया। 
निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में सामने आए चेतन ब्रागटा को अब कांग्रेस के रोहित ठाकुर और भाजपा की नीलम सरायक के खिलाफ मैदान में उतारा गया है। रोहित ठाकुर हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ठाकुर रामलाल के पोते हैं। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की कोशिश थी कि चेतन ने अपना नामांकन दाखिल नहीं किया। चेतन ने नामांकन दाखिल किया। फिर उन्हें समझाया गया कि नामांकन वापस लेने के लिए अभी भी समय है।

चेतन के समर्थकों का दावा है कि उन्हें पहले टिकट का आश्वासन दिया गया था। यहां भाजपा से जुड़े लोगों का दावा है कि किसी ने टिकट का आश्वासन नहीं दिया था, क्योंकि आलाकमान उम्मीदवार के चयन में कई पहलुओं को देखता है। जो भी हो, यह देखना बाकी है कि जुब्बल कोटखाई में क्या जनादेश रहता है।

शिमला न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story