×

Gurgaon औद्योगिक क्षेत्र में खुले में जलाया जा रहा कचरा

Gurgaon औद्योगिक क्षेत्र में खुले में जलाया जा रहा कचरा

हरियाणा न्यूज़ डेस्क !!! मानेसर क्षेत्र में प्रदूषण का स्तर हर साल इन दिनों काफी बढ़ जाता है। अलग-अलग विभागों को अलग-अलग कारण बता कर टाल दिया जाता है, लेकिन कोई विभाग कोई कार्रवाई नहीं करता। मानेसर क्षेत्र में रोजाना बड़ी मात्रा में खुला कचरा जलाया जा रहा है। खुले में जलता यह कचरा इस बार फिर लोगों की सांसों का दुश्मन न बने। औद्योगिक क्षेत्र मानेसर नगर निगम बनने के बाद भी इस समस्या का सामना कर रहा है। इस संबंध में क्षेत्र के उद्यमियों द्वारा हर साल समाधान मांगा जाता है। हर साल एनजीटी की ओर से सख्त आदेश भी दिए जाते हैं लेकिन इस कचरे का कोई समाधान नहीं होता है। इसके उलट उद्यमियों के जनरेटर चलाने पर पाबंदी है। इससे उत्पादन काफी प्रभावित होता है। कहने को तो यह प्रदूषण पराली जलाने से होता है, लेकिन मानेसर क्षेत्र के आसपास कहीं भी पराली नहीं जलाई जाती है।  मानेसर इलाके में सेहत के लिए सबसे खतरनाक प्लास्टिक को जलाया जाता है। इसमें एनजीटी के नियमों का भी पालन नहीं किया जा रहा है। उद्यमी राहुल गुप्ता, मुकुल चौहान ने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र के बाहर बड़ी संख्या में कबाड़ रहते हैं। वे औद्योगिक क्षेत्र से कचरा इकट्ठा करते हैं और अपनी जरूरत की चीजों को बाहर निकालने के लिए इसे जलाते हैं। औद्योगिक क्षेत्र के हरित पट्टी में प्रतिदिन कूड़ा उठाया जाता है। इसमें कोई अनजान व्यक्ति आग लगा देता है, जिससे दिन भर धुआं निकलता रहता है। यह धुआं जानवरों के साथ-साथ इंसानों के लिए भी बेहद हानिकारक है। क्लोज अप वॉक मुकुल चौहान ने बताया कि औद्योगिक क्षेत्र के बाहर बड़ी संख्या में कबाड़ रहते हैं। वे औद्योगिक क्षेत्र से कचरा इकट्ठा करते हैं और अपनी जरूरत की चीजों को बाहर निकालने के लिए इसे जलाते हैं। इसी प्रकार औद्योगिक क्षेत्र के हरित पट्टी में प्रतिदिन कूड़ा उठाया जाता है। इसमें कोई अनजान व्यक्ति आग लगा देता है, जिससे दिन भर धुआं निकलता रहता है। यह धुआं जानवरों के साथ-साथ इंसानों के लिए भी बेहद हानिकारक है। क्लोज अप वॉक मुकुल चौहान ने कहा कि औद्योगिक क्षेत्र के बाहर बड़ी संख्या में कबाड़ रहते हैं। वे औद्योगिक क्षेत्र से कचरा इकट्ठा करते हैं और अपनी जरूरत की चीजों को बाहर निकालने के लिए इसे जलाते हैं। इसी प्रकार औद्योगिक क्षेत्र के हरित पट्टी में प्रतिदिन कूड़ा उठाया जाता है। इसमें कोई अनजान व्यक्ति आग लगा देता है, जिससे दिन भर धुआं निकलता रहता है। यह धुआं जानवरों के साथ-साथ इंसानों के लिए भी बेहद हानिकारक है। 

औद्योगिक क्षेत्र मानेसर के बीचोबीच करीब एक दर्जन गांव बसे हैं, यहां के ग्रामीण सुबह औद्योगिक क्षेत्र की सड़कों पर टहलते थे, लेकिन बढ़ते प्रदूषण के कारण लोगों ने पैदल चलना भी बंद कर दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि रोज सुबह के धुंए से सांस लेने में काफी परेशानी होती है।

गुडगाँव न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story