×

Chandigarh BSF मामले में विरोध तेज, सुखबीर बादल और पूर्व मंत्री विक्रम मजीठिया को हिरासत में लिया

Chandigarh BSF मामले में विरोध तेज, सुखबीर बादल और पूर्व मंत्री विक्रम मजीठिया को हिरासत में लिया

गुडगाँव न्यूज़ डेस्क !!! केंद्र सरकार द्वारा पंजाब में सीमा सुरक्षा बल को 50 किलोमीटर के दायरे में तलाशी का अधिकार दिए जाने के बाद से पंजाब की सियासत गरमा गई है। बुधवार को सीएम चन्नी, डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा और सुखबीर बादल ने इसका विरोध किया। सुखबीर बादल गुरुवार को अकाली दल नेताओं के साथ राजभवन पहुंचे। उन्होंने बीएसएफ की शक्तियां बढ़ाने पर नाराजगी जताई है। सुखबीर बादल और अकाली दल के नेता राजभवन के सामने धरने पर बैठ गए हैं। चंडीगढ़ पुलिस ने सुखबीर, विक्रम मजीठिया समेत अकाली दल के सभी नेताओं को हिरासत में लिया है।

सुखबीर बादल ने कहा कि पहले केंद्र सरकार ने इन कृषि कानूनों को बनाकर राज्यों के अधिकारों पर कब्जा करने की कोशिश की, अब बीएसएफ की सीमा को 15 किलोमीटर से बढ़ाकर 50 किलोमीटर कर संघवाद के खिलाफ एक और कदम उठाया गया है।उन्होंने कहा कि राज्यों को इतना मजबूर नहीं किया जाना चाहिए। सुखबीर बादल ने कहा कि केंद्र को हर राज्य की जरूरत के बारे में पता नहीं है। देश तभी मजबूत होगा जब राज्य मजबूत होंगे।
पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि जल्द ही अकाली दल की बड़ी बैठक बुलाई जाएगी। इस मुद्दे पर लड़ाई लड़ी जाएगी। उन्होंने कहा कि पंजाब के हक के लिए पहले ही बहुत बड़ी कुर्बानियां दी जा चुकी हैं, अब भी कुर्बानी देने से पीछे नहीं हटेंगे।

पंजाब के पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने भी ट्विटर पर लिखा कि हमारे जवान देश की सुरक्षा के लिए हैं। इनका इस्तेमाल राजनीति को चमकाने और विफलताओं को छिपाने के लिए नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने अपने ट्वीट में जवानों से मुलाकात की तस्वीर भी लगाई है।

आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने बुधवार को दस राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों में सीमा सुरक्षा बल को सीमा के 50 किलोमीटर के दायरे में तलाशी लेने, संदिग्ध व्यक्तियों की गिरफ्तारी और सामान जब्त करने का आदेश दिया है। इसके बाद पंजाब में विरोध तेज हो गया है। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और डिप्टी सीएम सुखजिंदर सिंह रंधावा ने इसे राज्य के अधिकारों का उल्लंघन और संघवाद पर हमला बताया है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता नहीं करने का बयान दिया है।

चंडीगढ़ न्यूज़ डेस्क !!!

Share this story