×

 Ambikapur 8 हाथियों ने 7 दिन में 6 मकान तोड़े; 20 से अधिक किसानों की 20 एकड़ में लगी फसल को नष्ट कर चुके

fdchjjn
 छत्तीसगढ़ न्यूज़ डेस्क रेंज में हाथियों का दल दिन-रात अलग-अलग दिशाओं में कई घटनाओं को अंजाम दे रहा है। इससे लोगों में दहशत का माहौल है। क्षेत्र में हाथी एक हफ्ते में अब तक 6 घरों को तोड़ने के साथ ही 20 से अधिक किसानों की 20 एकड़ में लगी फसल को नष्ट कर चुके हैं।

क्षेत्र में घूम रहे 8 हाथियों के दल ने  इसके साथ ही घर में रखे धान, मक्का, जटंगी, चावल को खा गए।  झगरू मांझी, लच्छू राम, चंदर राम, सम्पत राम, धनीराम मांझी व नानसाय मांझी सहित अन्य ग्रामीणों के घरों को तोड़कर क्षतिग्रस्त कर दिया है। इसके अलावा खेत में लगी मक्के की खड़ी फसल व बाड़ी में लगे शक्करकंद, अदरक, केला के पौधों को रौंदकर नष्ट कर दी। सम्पत मांझी के खेत में लगे ट्यूबवेल को भी क्षतिग्रस्त कर दिया है।

हाथियों की दहशत से गांव के कई घरों में भोजन नहीं बन सका है। लोग भूखे रहकर हाथियों के डर से जगह-जगह अलाव जलाकर बैठ रहे हैं। केशमा, बजपहरी, मरेया और पटपरगा गांव के बंधन राम, जयराम, रघुवीर मांझी, जगन मांझी, राजेश राम, भीखराम, हरिराम ने समस्या से अवगत कराते हुए कहा कि इस बरसात में घर टूट जाने से आसमान के नीचे सोने के अलावा कोई ठिकाना नहीं है। मेहनत कर लगाई हुई फसल के इस तरह नष्ट होने से हम लोग मंझधार में फंस गए हैं, हमें जल्द सहायता की जरूरत है।

मंगलवार को भाजपा नेता विनोद हर्ष के साथ उदयपुर मंडल अध्यक्ष अनिल प्रताप सिंह, प्रबोध सिंह पहुंचे। बीते दिन हाथियों का दल केदमा मार्ग के केसमा, डेवापारा, बजबहरी, कुड़ेली होते हुए सितकालो गांव के आसपास गांव में आतंक मचाए हुए है। वहीं  उन्होंने टूटे घरों और नष्ट की गई फसल का जायजा लेकर प्रभावित परिवार के सदस्यों से मुलाकात की। वहीं वन विभाग को मुआवजा देने की मांग की।

Share this story