×

BIKANER  दो पक्षों के आमने-सामने होने के बाद से शहर बंद करवाया गया, एक पक्ष सड़कों पर उतरा पुलिस ने संभाला मोर्चा

Take home this electric bike on EMI of around Rs 1200, will run 100 km on full charge

राजस्थान न्यूज़ डेस्क !!!मामला तब बढ़ गया जब एक पक्ष को नोखा थाने से ही जमानत पर छोड़ दिया गया। बुधवार को नोखा बंद की घोषणा कर दी गई। बुधवार सुबह से लोग बाजारों में घूम घूमकर दुकानें बंद करवा दी।दरअसल, मंगलवार को घट्‌टू गांव में तमिलनाडू से आए कुछ युवकों की गतिविधियों पर आपत्ति दर्ज कराई गई थी। इस पर नोखा पुलिस को सूचना दी गई। युवकों को लेकर पुलिस नोखा थाने आ गई। देखते ही देखते नोखा थाने के आगे भारी भीड़ हो गई। इन युवकों को जमानत पर छोड़ने को लेकर नाराजगी जताते हुए बुधवार सुबह नोखा बंद करवाया गया।

आपकी जानकारी के लिए बता दे की,घंटाघर के पास नारे लगाते हुए पुलिस की भूमिका पर सवाल खड़े किए गए।  खबरों से प्राप्त जानकर के अनुसार बताया जा रहा है कि,नोखा के घट्‌टू गांव में मंगलवार को दो पक्षों के आमने-सामने होने के बाद से तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है। आरोप लगाया गया कि पुलिस एक पक्ष को समर्थन दे रही है। आवश्यक सेवाओं के तहत दवाओं की दुकानों को छूट दी गई है जबकि शेष अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रखे गए हैं।उधर, घटनाक्रम पर नजर रखने के लिए पुलिस भी तैनात है। सीओ नेमसिंह स्वयं समूची स्थिति पर नजर रखे हुए हैं जबकि थानेदार ईश्वरचंद जांगिड़ भी एरिया में सक्रिय है। विरोध प्रदर्शन के दौरान किसी तरह के उग्र विरोध का दृश्य देखने को नहीं मिला। व्यापारी भी बिना किसी विरोध के दुकानें बंद कर रहे हैं। उधर, इस मामले में जिला कलक्टर नमित मेहता ने रिपोर्ट तलब की है।

Share this story